अंतरराष्ट्रीय साक्षात्कार दिवस समारोह का आयोजन किया गया।

स्थानीय रामाश्रय बालेश्वर महाविद्यालय परिसर में गुरुवार को महाविद्यालय के प्रधानाचार्य प्रोफेसर संजय झा की अध्यक्षता एवं कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ. सुनील कुमार सिंह के निर्देशन में ‘अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस’ समारोह का आयोजन किया गया। उक्त कार्यक्रम को दीप प्रज्ज्वलन के साथ विधिवत शुरूआत की गई। कार्यक्रम का संचालन करते हुए डॉ. सुनील कुमार ने कहा कि साक्षरता मानव विकास की आधारशिला है। हम साक्षर होकर ही अपनी पहचान बना पाएंगे।वरीय प्राध्यापक डॉ. शकील अख़्तर ने अपने संबोधन में कहा कि मानव जीवन में पढ़ाई-लिखाई का महत्वपूर्ण स्थान है। छात्रों को नियमित रूप से महाविद्यालय आना चाहिए। अन्य वक्ता डॉ. राजकिशोर ने अपने संबोधन में इस दिवस की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर प्रकाश डालते हुए इसकी प्रासंगिकता पर व्यापकरुपेण प्रकाश डाला। वंही अन्य वक्ता डॉ. ज्वाला प्रसाद राय ने छात्रों को संबोधित करते हुए उन्हें आज के दिवस की महत्ता से अवगत कराया। अपने अध्यक्षीय संबोधन में प्रोफेसर झा ने सभी को अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस की शुभकामनाएं दी। उन्होंने छात्रों से कहा कि साक्षरता के अभाव में मानव का जीवन पशुवत हो जाता है। यह साक्षरता मानव को पशुता से मानवता की ओर ले जाती है। उन्होंने उपस्थित छात्र-छात्राओं से अपील किया कि वे अपने आसपास के कम से कम एक बच्चे को जरुर साक्षर करें। ऐसा करके ही हम इस दिवस की सार्थकता को सिद्ध कर पाएंगे। मौके पर महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. विमल कुमार, डॉ. संजीव कुमार साह, डॉ. ज्वाला प्रसाद राय, डॉ. शिवानी कुमारी, डॉ. जूही कुमारी, अलका कुमारी आदि, पूर्व स्वयंसेवक सर्वेश सुमन, स्वयंसेवक सुमन कुमार, मनीष कुमार, नंदनी प्रिया, जूली कुमारी, कंचन कुमारी, सोनी कुमारी, निधि कुमारी, स्मिता कुमारी, कुमारी साक्षी, सोनी कुमारी, धीरज कुमार, अभिजीत कुमार, अमरनाथ कुमार,लाल बाबू सिंह, रुक्मिणी कुमारी, प्रियंका कुमारी, सेबी सुहानी, लक्ष्मी कुमारी,बेबी कुमारी, गुड़िया कुमारी, संदीप कुमार आदि मौजूद थे। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. मनोहर कुमार यादव ने किया। राष्ट्रगान की प्रस्तुति के साथ कार्यक्रम की समाप्ति हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.