अतिक्रमणकारियों ने  प्रशासन के बुलडोजर को रोका धक्का मुक्की 3नामजद सहित 50 के विरुद्ध  मुकदमा दर्ज।

नजरिया संवाददाता राजकुमार

अंचल पदाधिकारी के द्वारा  तीन नामजद सहित 50 अज्ञात के विरुद्ध कचना ओपी में मुकदमा दर्ज विघोर हाट में  सरकारी जमीन  पर हो रहे अवैध पक्का निर्माण  को अतिक्रमण मुक्त कराने गए अंचल पदाधिकारी और उनके सहयोगियों को स्थानीय लोगों ने रोक दिया। तथा  उन्हें बुलडोजर चलाने नहीं दिया। इतना ही नहीं  बहुत समझाने के बाद भी लोग नहीं माने धीरे-धीरे लोगों की संख्या बढ़ गई और और स्थिति बिगर गई। देखते ही देखते तू- तू ,मैं -मैं और हाथापाई की स्थिति बन गई लोगों ने पुलिस बल और चौकीदार के साथ धक्का-मुक्की भी किया। बता दे शनिवार को बिघोरहाट  के पश्चिमी छोर पर सड़क के किनारे खाली स्थान में मोहम्मद लुकमान द्वारा पक्की मकान बनाया जा रहा है। वहीं प्रशासन की माने तो उक्त निर्माण अवैध है। क्योंकि वह जमीन सरकारी है। इस संबंध में अंचलाधिकारी अमर कुमार राय ने बताया कि बार-बार नोटिस देकर जमीन को खाली कर दें को कहा गया था। उसके बावजूद भी अतिक्रमण कारी नहीं माने, इसीलिए अंततः मजबूर होकर आज बुलडोजर चलाया जा रहा  था। हम लोग दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और कार्रवाई प्रारंभ कर दी इतने में बिघोरहाट  हॉट पंचायत के मुखिया पति मोहम्मद मुजफ्फर, उपमुखिया अमन कुमार और अतिक्रमण कारी मोहम्मद लुकमान तीनों कुछ स्थानीय लोगों के साथ मिलकर हमारे बुलडोजर के सामने आकर खड़े हो गए और हमारे कार्य में बाधा डाला  हमने  उन लोगों को बार-बार समझाया कि  जिला से यह निर्देश  है उक्त  अवैध निर्माण हर हाल में टूटेगा, आप लोग बीच  से हट जाइए परंतु वे  लोग  एक नहीं माने और धीरे-धीरे घटनास्थल पर लगभग 40-50 आदमी जमा हो गया। बात बढ़ कर  तू -तू, मैं -मैं की स्थिति आ गई। इतने में स्थानीय लोगों ने  कचना के पुलिस बल और चौकीदारों के साथ धक्का-मुक्की किया एवं जातिसूचक गाली दी। स्थिति बिगड़ते देख  डीएसपी प्रेमनाथ राम को घटना की सूचना दी गई। डीएसपी श्री राम तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने बीच-बचाव करते हुए स्थिति को संभाला तथा  अतिक्रमणकारियों को 5 दिनों  तक का समय दिया। वहीं 3 नामजद सहित 50 व्यक्तियों के विरुद्ध सरकारी कार्य में  बाधा डालने, चौकीदार और पुलिस बल के साथ धक्का-मुक्की करने तथा जातिसूचक गाली देने को लेकर अंचलाधिकारी अमर कुमार राय ने कचना ओपी  में मुकदमा दर्ज कराया गया। इस संबंध में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी प्रेमनाथ राम ने कहा कि अतिक्रमणकारियों को 5 दिन का समय दिया गया है। अगर इस बीच वे लोग स्वयं जमीन को खाली नहीं करते हैं तो  प्रशासन अतिरिक्त पुलिस बल के साथ आकर अवैध निर्माण को हटा देगी और इस में आने वाले खर्च  का वहन भी अतिक्रमणकारियों करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.