अररिया- केंद्रीय गृह मंत्री के रैली में पॉकेट खर्च के लिए बिहार के अररिया में बीजेपी जिला अध्यक्ष ने एमओ से 25 हजार रुपये मांगी रंगदारी।

✍️ विशेष संवाददाता। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आदेश पर या अररिया के लोकप्रिय सांसद प्रदीप कुमार सिंह के आदेश पर या फिर सुचिता की राजनीति करने वाले नरपतगंज विधायक जयप्रकाश यादव के आदेश पर अररिया जिला के भाजपा जिला अध्यक्ष संतोष सुराणा ने भरगामा एमओ से मांगा 25 हजार रुपिया रंगदारी पूछता है भारत के आम नागरिक अब आपको विस्तार पूर्वक बता दूं कि 23 सितंबर शुक्रवार को पूर्णिया के रंगभूमि मैदान में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जनभावना सभा को संबोधित करने आए थे. जिसकी तैयारी लगभग 15 दिनों पहले से चल रही थी इसी क्रम में अररिया जिला के भाजपा के कद्दावर नेता संतोष सुराणा अपने क्षेत्रों में सरकारी पदाधिकारियों से अवैध वसूली करने में जुटे हुए थे. यहां तक तो ठीक था लेकिन जब नेता जी ने भरगामा एमओ रामकल्याण कुमार मंडल से 25 हजार का डिमांड कर दिये तो एमओ साहब ने नेताजी को बड़े तेज झटके लगा दिए. ज्ञात हो कि 23 सितंबर के अहले सुबह से अररिया जिला के भाजपा जिला अध्यक्ष संतोष सुराना एवं भरगामा एमओ रामकल्याण कुमार के बातचीत का ऑडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. जिस ऑडियो में नेता जी द्वारा रामकल्याण कुमार से 25 हजार रंगदारी मांगा जा रहा है. वहीं एमओ साहब किसी तरह का कोई भी रंगदारी देने से मुकरते नजर आ रहे हैं. लेकिन नेता जी द्वारा जोर जबरदस्ती एमओ साहब को 25 हजार रुपिया व्यवस्था करने को कहा जा रहा है. और यह भी कहा जा रहा है कि आप जिला के किसी भी एमओ से पता कर लीजिए सभी एमओ ने 25-25 हजार रुपिया दिया है. लेकिन आप थोड़ा बहुत कम ही दीजिए लेकिन व्यवस्था करके रखिए हम आ रहे हैं आपके फारबिसगंज आवास पर आप अपने आवास या फिर रोड पर ही मिल लीजिएगा. हालांकि हम इस वायरल ऑडियो की पुष्टि नहीं करते हैं लेकिन यह वायरल ऑडियो भाजपा नेताओं पर प्रश्नवाचक चिन्ह लगा दिया है। हालांकि इस संबंध में भाजपा जिला अध्यक्ष एवं नरपतगंज विधायक का पक्ष जानने के लिए कई बार संपर्क किया गया लेकिन हर बार संपर्क विफल रहा। वहीं इस संबंध में भरगामा एमओ रामकल्याण कुमार ने इस वायरल ऑडियो की पुष्टि करते हुए बताया कि यह वायरल ऑडियो हमारे और भाजपा जिला अध्यक्ष संतोष सुराणा के बातचीत की है। ज्ञात हो कि बीते 1 सप्ताह पहले हीं आपदा प्रबंधन मंत्री शाहनवाज आलम के पीए सिरसिया कला पंचायत के जन वितरण प्रणाली विक्रेता सलेहा खातून का पैरवी करते हुए एमओ को धमकी भरे लहजे में कोई कार्यवाही नहीं करने का आदेश दिया था। वहीं दूसरी ओर अररिया के पूर्व सांसद सरफराज आलम ने भी एमओ को सलेहा खातून के अनाज के घोटाले मामले में नजर अंदाज करने का धमकी दिया था इन दोनों का भी कॉल रिकॉर्ड अखबार के सुर्खियों में रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.