अररिया- कोरोना टीका के दूसरे डोज के 6 माह बाद लगायें बूस्टर डोज।

  • जिले में 18 साल से अधिक उम्र के 9.80 लाख लाभुक बूस्टर डोज से वंचित।
  • दूसरे व तीसरे डोज की अवधि में आयी कमी के बाद टीकाकरण में आयी गति

अररिया, 10 अगस्त । जिले में कोरोना टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिये वृहत पैमाने पर टीकाकरण अभियान संचालित किया जा रहा है। इसी क्रम में 4 अगस्त से जिले में सात दिवसीय विशेष टीकारण अभियान संचालित किया जा रहा है। अभियान के क्रम में अब तक 35 हजार से अधिक लाभुक टीकाकृत किये गये हैं। गौरतलब है कि जिले में निर्धारित लक्ष्य 22.54 लाख की तुलना में अब तक 18.27 लाख लाभुक को टीका का पहला डोज लगाया जा चुका है। वहीं 5.37 लाख योग्य लाभुकों को टीका का दूसरा डोज लगाया जा चुका है।

दूसरे डोज के 6 माह बाद ले सकते हैं बूस्टर डोज का टीका

जिले में 18 साल से अधिक आयु वर्ग के लाभुकों को प्राथमिकता के आधार पर बूस्टर डोज का टीका लगाया जा रहा है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ मोईज ने बताया कि बूस्टर डोज के टीकाकरण से संबंधित नियमों के बदलाव के बाद दूसरे डोज का टीका लेने के महज 6 माह बाद लाभुक बूस्टर डोज का टीका ले सकते हैं। जिले में बूस्टर डोज के योग्य लाभुकों की संख्या फिलहाल 9.80 लाख के करीब है। जिला स्वास्थ्य समिति की रिपोर्ट के मुताबिक, हेल्थ वर्कर समूह के 2890, फ्रंट लाइन वर्कर समूह के 5093, 18 से 59 आयु वर्ग के 8.24 लाख व 60 साल से अधिक आयु वर्ग के 1.47 लाख लाभुक बूस्टर डोज के टीकाकरण से फिलहाल वंचित हैं।

खतरनाक हो सकती है टीकाकरण के प्रति उदासीनता

डीआईओ ने बताया कि 15 से 18 साल आयु वर्ग के 2.11 लाख लाभुकों में से 1.39 लाख लाभुक को टीका का पहला व दूसरे डोज के योग्य 1.37 लाख लाभुकों में 95 हजार 413 लाभुक ने टीका का दूसरा डोज लिया है। इसी तरह 12 से 14 साल के 1.56 लाख लाभुकों में 71 हजार ने टीका का पहला व दूसरे डोज के योग्य 64 हजार से अधिक लाभुकों में से महज 39 हजार ने टीका का दूसरा डोज लिया है। वंचितों के टीकाकरण को लेकर विभागीय स्तर से लगातार प्रयास किये जाने की बात उन्होंने कही। डीआईओ ने कहा कि टीकाकरण के महत्व से लोग अवगत हैं। बावजूद टीकाकरण के प्रति उनमें उदासीनता है। कोरोना महामारी को जड़ से खत्म करने के लिये हमें पूर्ण टीकाकरण के साथ मास्क का उपयोग, शारीरिक दूरी का ध्यान व हाथों की नियमित सफाई जैसे नियमों को अनुपालन सुनिश्चित कराना होगा।

संक्रमण से बचाव के लिये पूर्ण टीकाकरण जरूरी

सिविल सर्जन डॉ विधानचंद्र सिंह ने कहा कि महामारी का खतरा अभी बरकरार है। इसे लेकर किसी तरह की लापरवाही का हमें भारी खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। जिन्होंने अब तक टीका का पहला डोज नहीं लिया है, प्राथमिकता के आधार पर अपना टीकाकरण करायें। पहली डोज ले चुके लोग समय पर दूसरी व दूसरी डोज ले चुके लाभुक समय पर बूस्टर डोज जरूर ले लें। आशा व एएनएम घर-घर जाकर वंचितों के टीकाकरण कार्य में संलग्न हैं। उन्हें इस कार्य में समुचित सहयोग प्रदान करना हम सब की जिम्मेदारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.