अररिया – डीएलएसए की उपलब्धियो को चित्र प्रदर्शनी के माध्यम से लोगो ने जाना : जिला न्यायाधीश पीयूष कमल दीक्षित

नज़रिया न्यूज़, विधि संवाददाता, अररिया।

एम्पोवेर्मेंट ऑफ सिटीजन थ्रू लीगल अवेयरनेस एंड आउटरीच एंड हक हमारा भी तो हैं@75 के अंतर्गत डीएलएसए द्वारा प्राधिकरण की संरचना, कार्यकलाप, प्राधिकरण द्वारा उपलब्ध करवाई जाने वाली सेवाएं, विधिक सेवा की पात्रता, प्राधिकरण की उपलब्धियां इत्यादि विषयों पर चित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया गया।

यह चित्र प्रदर्शनी बुधवार को टाउन हॉल अररिया मे जिला विधिक सेवा प्राधिकरण (डीएलएसए) के द्वारा पेन इंडिया कैम्पेन के अंतर्गत किया गया।

इसका विधिवत उदघाटन विधिवत दीप प्रज्वलित कर जिला एवं सत्र न्यायाधीश पीयूष कमल दीक्षित ने किया।

जिला एवं सत्र न्यायाधीश पीयूष कमल दीक्षित ने अपने अध्यक्षीय भाषण मे स्कूली छात्राओ का विशेष रूप से स्वागत करते हुए कहा कि यह छात्राएं देश की भविष्य हैं और हमारी विरासत को इन्हें ही आगे संभालना हैं अतः इन्हें विशेष रूप से इस कार्यक्रम का हिस्सा बनना चाहिए और प्राधिकरण की सभी जानकारियों को ठीक से समझना चाहिए।

आजादी की अमृत महोत्सव पर पेन इंडिया कैंपेन के अंतर्गत आज प्रदर्शनी कार्यक्रम का आयोजन में प्राधिकार की संरचना, प्राधिकार के उद्देश, निशुल्क कानूनी सहायता प्राप्त करने वाले व्यक्तियों की पात्रता, राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार की विभिन्न योजनाएं, प्रतिकार स्किम, नागरिकों के मौलिक कर्तव्य, सिटिजन सेंट्रिक सर्विसेज, न्याय बंधु, मध्यस्थता केंद्र, पर्यवेक्षक गृह में जागरूकता, प्राधिकार द्वारा लगाया गया विशेष कैंप, एक दिवसीय संवेदीकरण सह जागरूकता कार्यक्रम, नशा मुक्ति अभियान, विश्व पर्यावरण दिवस, अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस, मानव व्यापार, बाल विवाह, बाल श्रम, नारी सशक्तिकरण, दहेज प्रथा, कोरोना महामारी के समय प्राधिकार के द्वारा की गई सहायता सेवा, राष्ट्रीय लोक अदालत इत्यादि विषयों पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार अररिया के द्वारा किए गए कार्यक्रमों को चित्रों के माध्यम से दिखाया गया. कार्यक्रम का मुख्य बिंदु प्राधिकार की संरचना, उद्देश्य, इन सब को लोग अच्छी तरह जान सके व प्राधिकार के द्वारा जितने भी कार्य किए गए उन सबको प्रदर्शनी में लगाया गया था।

इस कार्यक्रम में गर्ल्स हाई स्कूल अररिया के बच्चीयों को विशेष रूप से आमंत्रित किया गया था ताकि आने वाली भावी पीढ़ियां प्राधिकार के कार्यों को अच्छी तरह जान सके।

एडीजे सह जिला विधिक सेवा प्राधिकार अररिया के सचिव धीरेंद्र कुमार ने बताया कि प्रदर्शनी चित्रों के माध्यम से किसी भी बात को कम समय में अधिक रूप से जान पाना एक सशक्त माध्यम है।

इस मौके पर व्यवहार न्यायालय अररिया के सभी सेशन न्यायधीश व सीजेएम डिवीजन के सभी न्यायिक पदाधिकारीगण क्रमशः फैमिली कोर्ट के प्रिंसिपल जज आनंद नंदन सिंह, एडीजे 06 सह पोक्सो एक्ट के विशेष न्यायाधीश शशिकांत रॉय, एडीजे-01 सह एससी/एसटी कोर्ट के स्पेशल जज अभिषेक कुमार दास, एडीजे-2 संजय कुमार रॉय, एक्सक्लुसिव स्पेशल एक्साइज जज-01 राजीव रंजन सिंह, एक्सक्लुसिव स्पेशल एक्साइज जज-2 आनंद कुमार सिंह, एडीजे सह डीएलएसए सेक्रेटरी धीरेंद्र कुमार, सीजेएम संजीव कुमार, एसीजेएम-01 सह सबजज-01 शैलेंद्र कुमार सिंह, एसीजेएम-5 सह सबजज-06 सह एन आई एक्ट के स्पेशल जज रीतू कुमारी, एसडीजेएम अमित वैभव, मुन्सिफ़ मो मंजूर आलम, जेजेबी प्रिसिपल मजिस्ट्रेट गौतम कुमार, फर्स्ट क्लास ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट प्रीती रॉय, फर्स्ट क्लास ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट सह एडिशनल मुन्सिफ़ क्रमशः आसिफ नवाज, मो गुलाम रसूल, रोहित कुमार वर्मा, शैलेंद्र कुमार, विशाल सिन्हा, पवन कुमार चौधरी, ज्ञान प्रकाश, नवीन कुमार व प्रदीप कुमार सहित एडीएम राजमोहन झा, एसडीओ शैलेंद्र चन्द्र दिवाकर, एसडीपीओ पुष्कर कुमार, इंस्पेक्टर सह एसएचओ शिवशरण साह, सब इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार, महिला एसआई शिल्पा कुमारी के अलावा सभी न्यायालय कर्मी, डीएलएसए के सभी 50 पैनल अधिवक्ता व सभी 100 पीएलवी व गर्ल्स स्कूल की बच्चियां शामिल हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.