अररिया- डेंगू के बढ़ते मामलों पर प्रभावी रोक को लेकर विभागीय प्रयास जारी।

-जिले में अब तक 37 संक्रमित मरीज मिले, फिलहाल सभी का सेहत सामान्य।
-विभिन्न स्तरों पर लोगों को जागरूक करने की मुहिम में जुटा है विभाग।

अररिया, 21 अक्टूबर । जिले में डेंगू के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस पर प्रभावी नियंत्रण को लेकर विभागीय प्रयास जारी है। पीएचसी स्तर पर डेंगू की जांच व इलाज का इंतजाम उपलब्ध कराया गया है। सदर अस्पताल अररिया व अनुमंडल अस्पताल फारबिसगंज में पूर्व से 10 बेड क्षमता वाला विशेष डेंगू वार्ड संचालित किये जा रहे हैं। जानकारी अनुसार एसडीएच फारबिसगंज में बने विशेष डेंगू वार्ड में इलाज के लिये एक मरीज को भर्ती किया गया था। जिसकी सेहत में सुधार होने के बाद उसे रिलीज कर दिया गया है। डेंगू को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी अलर्ट के बाद जिला स्वास्थ्य समिति ने डेंगू के लक्षणों वाले मरीजों की निगरानी कर रहा है। संक्रमित सभी मरीजों को नियमित रूप से फॉलोअप किया जा रहा है।

डेंगू से बचाव को लेकर किया जा रहा जागरूक

डेंगू से संबंधित मामलों की जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ विधानचंद्र सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर शहरी क्षेत्रों में नगर प्रशासन की मदद से फॉगिंग की जा रही है। वहीं ग्रामीण इलाकों में फॉगिंग स्वास्थ्य विभाग के स्तर से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि डेंगू से बचाव को लेकर जरूरी एहतियाती उपायों पर अमल जरूरी है। इसे लेकर विभिन्न स्तरों पर लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है।

जिले में फिलहाल 37 लोग हैं संक्रमित

जानकारी मुताबिक अब तक जिले में कुल 37 डेंगू संक्रमित मरीज मिले हैं। इसमें 02 मरीज बाहरी जिले से संबद्ध हैं। वहीं अब तक अररिया में 07, फारबिसगंज में 15, रानीगंज में 01, नरपतगंज में 09, भरगामा में 01, सिकटी में 01 डेंगू संक्रमित मरीज मिले हैं। डेंगू मरीज मिलने के बाद प्रभावित इलाकों में प्राथमिकता के आधार पर नजदीक के 500 से अधिक घरों में फॉगिंग किया जा चुका है। नरपतगंज व फारबिसगंज के सिमराहा में मरीज मिलने के बाद शुक्रवार को उक्त स्थानों पर फॉगिंग कराया गया है।

रोग के लक्षण दिखने पर तुरंत करायें जांच

जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ अजय कुमार सिंह ने बताया कि डेंगू मरीजों की संख्या बढ़ रही है। लगातार बुखार की शिकायत रहने व कमजोरी महसूस होने पर नजदीकी सरकारी अस्पतालों में डेंगू जांच के लिये आम लोगों को प्रेरित किया जा रहा है। ग्रामीण चिकित्सा संस्थानों में विशेष सत्र आयोजित करते हुए स्थानीय लोगों को डेंगू के खतरे व बचाव संबंधी उपायों के प्रति जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने डेंगू मरीजों को अधिक से अधिक पानी, ओआरएस घोल, नींबू पानी, नारियल पानी का सेवन करने की सलाह उन्होंने दी। इसके अलावा उन्होंने अधिक से अधिक प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन की सलाह दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.