अररिया- पलासी रविवार को दो पहर प्रखंड के डेहटी दक्षिण पंचायत के ककोरवा वार्ड नंबर 04 में अगलगी की घटना।

संजय कुमार संवाददाता पलासी अररिया। सोमवार को पीड़ित परिवारों में सन्नाटा पसर गया है वही सभी पीड़ित परिवार खुले आसमान के नीचे रहने को विवश हैं हालांकि प्रसाशन की ओर से सभी पीड़ित परिवारों के लिये सामुदायिक किचन शेड की व्यवस्था की गई है और अग्नि पीड़ितों को सुबह का नाश्ता दोपहर का भोजन तथा रात का भोजन नियमित रूप से दिया जा रहा है वहीं इसके साथ ही सभी पीड़ित परिवारों को तत्काल प्लास्टिक वगैरह उपलब्ध कराया गया है वोही घटना को लेकर ककोरवा गांव में त्राहिमाम की समस्या उत्पन्न हो गयी हैं पीड़ितों का वर्षो का कमाया हुआ तथा जमा किया गया पूंजी वे जेवर वे कपड़ा तथा नगद रुपये सब कुछ घंटो में राख में तब्दील हो गया है वही किसी परिवार का शादी का सपना टूटा तो किसी का आशियाना बनाने का सपना खाक में बदल गया वही पीड़ित परिवारों के बीच गम का पहाड़ टूट पड़ा हैं और लोग सुनी आँखों से आसमान को निहार रहे हैं वोही छोटे- छोटे बच्चों का बनियान भी नहीं बचा है जहां रविवार को सुबह ककोरवा गांव गुलजार बना हुआ था और दोपहर होते ही उजरा हुआ चमन में बदल गया वही पीड़ित परिवार अपने गम व आंसू लिये हुए पत्रकारों को कहती है कि हे बाबू हमर सब के सब कुछ लूटी गेलै बड़ी मेहनत से प्रदेश में रहकर मेहनत मजदूरी कर धन जमा किये थे लेकिन अल्लाह ने किस गुनाह की सजा हम उनलोगों को दिया कि सब कुछ आग में जल कर राख का ढेर हो गया वही इस अग्निकांड में करीब दस लाख नगदी लाखों रुपये का जेबरात भी जल गया वही पीड़ित परिवार हुश्न आरा ने फफकते हुए बताया कि वे लोग काफी मेहनत से कमा कर घर बनाने के लिए 1लाख 20 हजार रुपया रखा था।

जो इस आग की भेंट चढ़ गया वही पीड़ित परिवार लाखो खातून हबीबा आदि ने बताया कि इस आग ने उनके आशियानों को ही नही बल्कि उनके अरमानों को भी जला डाला और अग्निपीड़ित नाहिन नाजो खातून हबीबा नाज ने भी बताया है कि हे बाबू घर में रखलो जेबरात नगदी 20 हजार पीड़ित परिवार अमीन साकेब परवेज जावेद हासिम जासिम ने बताया कि उनलोगों के घर में रखा हजारों का नगदी वे जेबरात जल कर खाक में ढेर हो गया वही पीड़ित रहमत की नई नई शादी हुई थी शादी में मिला उनका सारा सामान नगदी जेबरात सब जाली गेलो पीड़ितों ने बताया कि अब हमें किरकम के अपन घर वे बाल बच्चा के बिहा शादी करबो हो वही पीड़ित सरवर आलम ने बताया कि उनके गोदरेज में रख्खा नगदी व जेबरात भी जल गया वही पीड़ित मुर्शीद आलम ने बताया कि इस आग ने उनके अरमानों को भी जला दिया है घर में रख्खा 50 हजार नगदी जेबरात सहित सारा सामान जल कर राख के ढेर में बदल दिया वही इस अगलगी की घटना में आधा दर्जन मवेशी भी झुलस कर मर गया इस भयंकर आग की घटना में सभी पीड़ित परिवार को खुले आसमान के नीचे रहने को विवश कर दिया गया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *