अररिया- पीएचईडी पानी प्लांट से स्टेपलाइजर की चोरी,चोर पकड़ाया,मचा हाहाकार।

  • प्लांट संचालक की बहादुरी से रंगे हाथ पकड़े गए चोर

अंकित सिंह। अररिया. जिला के भरगामा थाना क्षेत्र के जयनगर वार्ड 08 के पीएचईडी पानी प्लांट संचालक 28 वर्षीय सुजीत कुमार पिता कदमलाल सरदार ने बुधवार को भरगामा थाना में एक लिखित आवेदन दिया है। अपने लिखित आवेदन में सुजीत ने बताया है कि 09 अगस्त को रात्रि के करीब 10 बजे मैं अपने पानी प्लांट को लॉक करके अपने घर चला गया और जब मैं 10 अगस्त के सुबह पानी प्लांट गया तो ताला टूटा मिला व स्टेपलाइजर गायब मिली। आवेदन में ये भी साफ-साफ लिखा है कि मैं अक्सर रात्रि को घर जाते समय काफी दिनों से गांव के हीं 22 वर्षीय सतीश कुमार पिता शिवानंद मेहता को पानी प्लांट के आसपास घूमते देखा करता था। चोरी हुए स्टेपलाइजर के खोजबीन के क्रम में मेरा छोटा भाई रोशन कुमार सरदार मुझे बताया कि सतीश ने स्टेपलाइजर जैसा एक समान को चादर में लपेट कर अपने आंगन में जलावन घर में छुपा कर रखा है। सूचना मिलने के बाद जब हम लोग सतीश के घर जाने लगे तभी जयनगर वार्ड 07 के प्लांट ऑपरेटर करण कुमार पिता अवधेश कुमार झा भी आ पहुंचा उन्होंने भी बताया कि मेरे भी पानी प्लांट से 09 अगस्त के रात्रि में स्टेपलाइजर चोरी हुई है। करण कुमार का भी कहना था कि मेरे भी पानी प्लांट के इर्द-गिर्द सतीश कुमार को ग्रामीणों ने रात्रि में घूमते हुए देखा है। जिसके बाद ढेर सारे ग्रामीण इकट्ठा होकर सतीश के घर गया और सतीश को बंधक बनाकर पूछताछ करने लगा पूछताछ करने के क्रम में सतीश द्वारा स्टेपलाइजर चुड़ाने की बात कबूल किया गया। जिसके बाद ग्रामीणों की मौजूदगी में सतीश के जलावन घर का तलाशी लिया गया तलाशी के क्रम में सतीश के जलावन घर से एक स्टेपलाइजर बरामद हुआ। आनन-फानन में भरगामा थाना को सूचना दिया गया सूचना के बाद पहुंचे पुलिस को चोर सतीश कुमार सहित स्टेपलाइजर सौंप दिया गया। जिसके बाद भरगामा थाना अध्यक्ष आदित्य कुमार ने आनन-फानन में मामला दर्ज कर लिया और मामला दर्ज करने के बाद आरोपी सतीश को न्यायिक हिरासत में भेजने की तैयारी में जुट गया। इधर पीएचईडी जेई पंकज कुमार ने बताया कि अगर भरगामा पुलिस इस तरह की चोरी की घटना को गंभीरता से लिए होते तो हम लोगों के पानी प्लांट से जो हर महीना भरगामा प्रखंड के किसी ना किसी वार्ड से स्टेपलाइजर चोरी होते रहता था उस पर रोक लगता और हम लोगों के मुख्यमंत्री का महत्वाकांक्षी नल जल योजना सुचारु रुप से चल पाता लेकिन दुर्भाग्य है कि हम लोगों के ऑपरेटर द्वारा कई दफे भरगामा थाना को लिखित आवेदन देकर चोरी की शिकायत किया गया लेकिन भरगामा पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया जिसके चलते चोरों का मनोबल बढ़ गया और ढेर सारे पानी प्लांट से स्टेपलाइजर चोरी हो गया। मुझे लगता है कहीं ना कहीं इस चोरों के तह तक अगर पुलिस जाती है तो ढेर सारी स्टेपलाइजर के चोरी की सुराग पुलिस को हाथ लगेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.