अररिया- बायोमिट्रिक मशीन में दर्ज होगी स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मियों की उपस्थिति।

  • जिले के सभी चिकित्सा संस्थानों में बायोमिट्रिक मशीन किया जा रहा अधिष्ठापित।
  • स्वत: रिलीज नहीं होगा बायोमिट्रिक मशीन में उपस्थिति दर्ज नहीं करने वाले कर्मियों का वेतन

अररिया, 18 अगस्त । जिले में स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी को लेकर निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। इसी कड़ी में विभाग की एक नई पहल बहुत जल्द सामने आने वाली है। सरकारी चिकित्सा संस्थानों में प्रतिनियुक्त कर्मियों अनुपलब्धता हमेशा से एक बड़ी समस्या रही है। अस्पताल में समय पर चिकित्सक व अन्य कर्मियों के गैर हाजिर रहने से आम लोगों को इसका बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ता है। स्वास्थ्य कर्मियों के देर से अस्पताल आने व जल्दी घर लौटने से जुड़ी शिकायतें भी बेहद आम है। स्वास्थ्य कर्मियों के इस रवैये पर प्रभावी अंकुश लगने वाला है। दरअसल विभाग द्वारा सदर अस्पताल, अनुमंडल अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व उप स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रतिनियुक्त कर्मियों की उपस्थिति बायोमिट्रिक मशीन में दर्ज होगी। चिकित्सा संस्थानों में बायोमिट्रिक मशीन लगाने का कार्य जिले में शुरू हो चुका है।

स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता में होगा सुधार

जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ विधानचंद्र सिंह ने बताया कि अब तक विभिन्न चिकित्सा संस्थानों में कार्यरत कर्मी अपनी उपस्थिति रजिस्ट्रर में दर्ज करते रहे हैं। इस पर्यवेक्षण मुश्किल होता था। कर्मियों का देर से आना व जल्दी जाने की शिकायतें आम थी। इससे जहां लोगों को समय पर जरूरी स्वास्थ्य सेवा नहीं मिल पाता था। वहीं कर्मठ व ईमानदार कर्मियों को इससे निराशा होती थी। इसे देखते हुए विभाग ने बायोमिट्रिक के माध्यम से उपस्थिति दर्ज कराने का निर्णय लिया है। इससे ऐसी शिकायतों पर प्रभावी अंकुश संभव होगा। उन्होंने कहा कि बायोमिट्रिक मशीन में उपस्थिति बनाने वाले कर्मियों को ही वेतन का भुगतान होगा। उपस्थिति हीं होने पर वेतन में कटौती संभव है।
बहुत जल्द मशीन में दर्ज होने लगेगी कर्मियों की उपस्थिति

डीपीएम स्वास्थ्य रेहान अशरफ ने बताया कि विभागीय निर्देश के आलोक में एक बायोमिट्रिक मशीन में 40 कर्मियों के उपस्थिति का प्रावधान है। सिविल सर्जन के माध्यम से पूर्व में अनुमंडल, रेफरल, पीएचसी व अन्य स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी पदाधिकारियों को बायोमिट्रिक मशीन की खरीदारी व संबंधित सभी कर्मियों का रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित कराने का निर्देश जारी किया गया है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द जिले के सभी सभी चिकित्सा संस्थानों में बायोमिट्रिक मशीन अधिष्ठापित करते इसका सफल संचालन सुनिश्चित कराया जायेगा। बायोमिट्रिक उपस्थिति नहीं बनाने वाले चिकित्सक व कर्मियों का वेतन स्वत: रिलीज नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.