अररिया- राज्यव्यापी अलर्ट के बाद जिले में डेंगू को लेकर बढ़ायी गयी सतर्कता।

  • पीएचसी स्तर पर डेंगू के नि:शुल्क जांच व इलाज का हुआ इंतजाम।
  • सदर अस्पताल व अनुमंडल अस्पताल में विशेष डेंगू वार्ड बना

अररिया, 07 अक्टूबर । डेंगू को लेकर राज्यव्यापी अलर्ट के बाद जिले में इसे लेकर सतर्कता बढ़ा दी गयी है। वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये जिलास्तरीय स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ मामले की समीक्षा करते हुए स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ने इसे लेकर जरूरी दिशा निर्देश दिये हैं। पर्व त्योहार के दौरान पटना सहित बाहरी राज्यों से लौट रहे प्रवासियों के मामले में विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है। किसी व्यक्ति में रोग संबंधी किसी तरह का लक्षण मिलने पर समुचित इलाज का तत्काल इंतजाम सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया है। प्रमुख चिकित्सा संस्थानों व संवदेनशील जगहों पर डेंगू रोधी उपायों के तहत फोगिंग का आदेश दिया गया है।

बीते एक माह में मिले हैं डेंगू के तीन मरीज

स्वास्थ्य अधिकारियों की मानें तो डेंगू के मामले को पूर्व से गंभीरता से लिया जा रहा है। वीडीसीओ ललन कुमार के मुताबिक बीते एक महीने में कुर्साकांटा के डेहुआबाड़ी, एएनएम कॉलेज फारबिसगंज व नरपतगंज प्रखंड के पोठिया से अब तक डेंगू के तीन मामले सामने आये हैं। इसके अलावा कुछ एक मामलों को फिलहाल ट्रेस नहीं किया जा सका है। प्रभावित गांव में फोगिंग हो चुका है। संक्रमित तीनों मरीज की सेहत में अब सुधार है ।

जांच व इलाज का है समुचित इंतजाम

जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ अजय कुमार सिंह ने बताया कि डेंगू के इलाज को लेकर जिले में समुचित इंतजाम उपलब्ध है। पीएचसी स्तर पर डेंगू की जांच व इलाज का इंतजाम है। यह पूरी तरह नि:शुल्क है। गंभीर मरीजों के लिये अनुमंडल अस्पताल फारबिसगंज व सदर अस्पताल अररिया में विशेष डेंगू वार्ड संचालित किया जा रहा है। दोनों ही जगहों पर प्लेटलेट्स जांच की सुविधा है। प्लेटलेट्स की आवश्यकता होने पर मरीजों को मेडिकल कॉलेज पूर्णिया व भागलपुर लाने ले जाने के लिये नि:शुल्क एंबुलेंस की सुविधा उपलब्ध है ।

डेंगू को लेकर विभाग पूरी तरह अलर्ट

सिविल सर्जन डॉ विधानचंद्र सिंह ने बताया कि शरीर में असनीय दर्द व तेज बुखार डेंगू के सामान्य लक्षणों में से एक है। ऐसे किसी भी लक्षण दिखने पर नजदीकी अस्पताल में डेंगू की जांच कराना जरूरी है। उन्होंने कहा कि डेंगू को लेकर विभाग पूरी तरह अलर्ट है। प्रभावित गांव ही नहीं, संभावित अन्य जगहों पर फोगिंग कराया जा रहा है। इससे संबंधित सभी जरूरी दवाएं चिकित्सा संस्थानों को उपलब्ध करा दिया गया है। डीपीएम स्वास्थ्य रेहान अशरफ ने कहा कि जिले के सभी चिकित्सा संस्थानों को अलर्ट किया गया है। चिकित्सा पदाधिकारी को अपने स्तर से डेंगू के मामलों पर नजर बनाये रखने को कहा गया है। इससे संबंधित मामलों की नियमित समीक्षा की जा रही है। ताकि डेंगू के प्रसार को हर हाल में नियंत्रत किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.