अररिया : राष्ट्रीय लोक अदालत मे 1202 मामले निपटाये गये।

नज़रिया न्यूज़, अररिया। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार नई दिल्ली व बिहार राज्य विधिक संवा प्राधिकार पटना के निर्देश के आलोक में शनिवार को समूचे भारत वर्ष में राष्ट्रीय लोक अदालत लगाया गया।

इसी परिपेक्ष्य में शनिवार को व्यवहार न्यायालय अररिया परिसर में भी जिला एवं सत्र न्यायाधीश पीयूष कमल दीक्षित की अगुवाई में राष्ट्रीय लोक अदालत शिविर लगाया गया।

राष्ट्रीय लोक अदालत की अध्यक्षता जिला एवं सत्र न्यायाधीश पीयूष कमल दीक्षित ने किया।

इस राष्ट्रीय लोक अदालत शिविर का शुभारंभ जिला एवं सत्र न्यायाधीश पियुष कमल दीक्षित, पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार सिंह, एडीएम राज मोहन झा व वरीय अधिवक्ता मो ताहा द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

इससे पूर्व एडीजे सह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव धीरेन्द्र कुमार ने शिविर में पधारे सभी गणमान्य लोगों का स्वागत बुके देकर किया।

एडीजे धीरेन्द्र कुमार ने प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व वेबपोर्टल डिजिटल मीडिया से जुड़े पत्रकारों को जानकारी दिया कि पिछले राष्ट्रीय लोक अदालत की तुलना में इस बार दुगुने वादों का निष्पादन हुआ है। जो बहुत बड़ी बात है।

मंच का सफल संचालन जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष सह वरीय अधिवक्ता विनोद प्रसाद ने की।

जबकि धन्यवाद ज्ञापन एडीजे सह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव धीरेंद्र कुमार ने की।

एडीजे धीरेन्द्र कुमार ने प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व वेबपोर्टल डिजिटल मीडिया से जुड़े पत्रकारों को जानकारी दिया कि जानकारी दिया कि राष्ट्रीय लोक अदालत शिविर मे जिले के सभी बैंक मिलकर कुल 807 मामलों में 5 करोड़ 77 लाख 97 हजार 237 रूपया समझौता के तहत 01 करोड़ 91 लाख 47 हजार 561 रूपया की वसूली किया गया।

वही एडीजे धीरेन्द्र कुमार ने प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व वेबपोर्टल डिजिटल मीडिया से जुड़े पत्रकारों को यह भी जानकारी दिया कि राष्ट्रीय लोक अदालत के पटल पर सुलहनीय आपराधिक वादों के 291 मामले, मोटर इंश्योरेस से संबंधित 03 मामले, मैट्रीमोनियल के 21 केसेस, बीएसएनएल के 21 मामले व एनआई एक्ट के 05 मामलो का निपटारा हुआ. व जिला पदाधिकारी द्वारा गठित बेंच में कार्यपालिका की ओर से पीठासीन पदाधिकारी की ओर से 68 मामले निपटाये गये।

एडीजे सह जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव धीरेन्द्र कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिकाधिक मामलो के निष्पादन के लिए ग्यारह बैच लगाये गये थे।

पहले बैच में परिवार न्यायालय से संबंधित वाद, आरबिट्रेल अवॉर्ड एंड आल एग्जेक्युशन केसेस के निपटारा के लिए एडीजे-01 संजय कुमार रॉय व महिला अधिवक्ता मीना कुमारी को रखा गया था। इस बैंच मे 07 मामलों का निपटारा हुवा।

वही, दूसरे बैंच मे सभी न्यायलयों के एमएसीटी क्लेम वाद एवं सभी एक्साइज न्यायलयों के वाद से संबंधित स्पेशल एक्साइज जज फर्स्ट राजीव रंजन सिंह व अधिवक्ता श्रवण कुमार झा को रखा गया। इस बैंच मे 72 मामलों का निपटारा हुवा।

वही, तीसरे बैच में सीजेएम, एसीजेएम-01 न्यायालय से संबंधित सभी आपराधिक एवं दीवानी वाद तथा श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी लिमिटेड, हीरो फिन कॉर्प एंड इंडियन बैंक से संबंधित मामलों के लिए सीजेएम संजीव कुमार व अधिवक्ता शैलेंद्र कुमार शरण को रखा गया था। इस बैंच मे 10 मामलों का निपटारा हुवा।

चौथे बैच में एसीजेएम-5 व अन्य सभी एसीजेएम (भेकेट) के न्यायलयों से संबंधित सभी आपराधिक एवं दिवानी वाद एवं सभी न्यायलयों के मापतौल एवं एनआई एक्ट तथा पीएनबी, बीओबी एवं अन्य बैंकों से संबंधित मामले जो किसी भी पीठ के समक्ष लिस्टेड नही है इन वादों का निपटारा के लिए एसीजेएम-5 रितु कुमारी व अरविंद कुमार पंजियार थे। इस बैंच मे 38 मामलों का निपटारा हुवा।

पांचवे बैच में सभी न्यायलयों के विधुत एवं वन अधिनियम से संबंधित वाद तथा अन्य वाद जो किसी भी पीठ के समक्ष लिस्टेड नही है का निपटारा जेजेबी के प्रधान मजिस्ट्रेट गौतम कुमार व जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष सह वरीय अधिवक्ता विनोद प्रसाद जी के द्वारा किया गया। इस बैंच मे 45 मामलों का निपटारा हुवा।

छठे बैच में एसडीजेएम अररिया के न्यायलय से संबंधित सभी आपराधिक एवं दीवानी वाद, सभी न्यायलयों के श्रम, परिवहन से संबंधित वाद तथा को-ऑपरेटिव बैंक व यूनियन बैंक से संबंधित मामलों के निपटारे के लिए एसडीजेएम अमित वैभव व अधिवक्ता निपन कुमार मंडल ने किया। इस बैंच मे 11 मामलों का निपटारा हुवा।

सातवें बैंच मे मुन्सिफ़ न्यायालय एवं श्री शैलेंद्र कुमार व श्री आशिफ नवाज़ जेएम न्यायलयों से संबंधित सभी आपराधिक एवं दीवानी वाद तथा यूबीजीबी बैंक से संबंधित मामलों के निपटारे के लिये मुन्सिफ़ मो मंजूर आलम व अधिवक्ता मिथिलेश कुमार झा को रखा गया। इस बैंच मे 26 मामलों का निपटारा हुवा।

आठवें बैंच मे जेएम क्रमशः प्रीति रॉय, गुलाम रसूल व प्रदीप कुमार के न्यायलायो से संबंधित सभी आपराधिक एवं दीवानी वाद तथा केनरा बैंक से संबंधित मामलों का निपटारा के लिए जेएम प्रीति रॉय व अधिवक्ता जयप्रकाश सिंह को रखा गया। इस बैंच मे 55 मामलों का निपटारा हुवा।

नॉवे बैंच मे जेएम क्रमशः रोहित कुमार वर्मा, विशाल सिन्हा, पवन कुमार चौधरी के न्यायलायो से संबंधित सभी आपराधिक एवं दीवानी वाद तथा सीबीआई व बीएसएनएल से संबंधित मामलों का निपटारा के लिए जेएम रोहित कुमार वर्मा व अधिवक्ता रतन कुमार को रखा गया। इस बैंच मे 21 मामलों का निपटारा हुवा।

दसवें बेंच मे जेएम क्रमशः नवीन कुमार व ज्ञान प्रकाश के न्यायलायो से संबंधित सभी आपराधिक एवं दीवानी वाद तथा भारतीय स्टेट बैंक व यूको बैंक से संबंधित मामलों का निपटारा के लिए जेएम नवीन कुमार व अधिवक्ता भूपेंद्र प्रसाद यादव को रखा गया। इस बैंच मे 20 मामलों का निपटारा हुवा।

ग्यारहवें बैंच मे कार्यपालिका से संबंधित वादों का निपटारा के लिए जिला पदाधिकारी अररिया द्वारा गठित किया गया। इस बैंच मे 68 मामलों का निपटारा हुवा।

राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने में हेल्प डेक्स में पैनल अधिवक्ता सोहन लाल ठाकुर व सहयोगी के रूप में पैनल अधिवक्ता विनीत प्रकाश सक्रिय रूप से दिखाई दिये।

वही, बैच कर्लक के रूप में अनीश कुमार सिंह, प्रभाकर कुमार, मो कासिम, दुर्गानंद सह, विभाष कुमार पटेल, सुबोध कुमार, विकाश कुमार, रिंटू कुमार, प्रवीण आनंद व अशोक कुमार शर्मा के अलावा संजय कुमार यादव, दिनेश ठाकुर, धीरेन्द्र कुमार, राजीव कुमार सिन्हा, विजय कुमार, वीरेन्द्र प्रसाद, तालहा हुसैन, रत्नेश्वर चौधरी, राजू पासवान अमर कुमार सिंह के अलावा डीएलएसए के नीरज कुमार झा, शेखर कुमार, कमलेश कुमार सिंह सहित पीएलवी क्रमश: मो अरमान, विजय कुमार मंडल,, कुमोद पासवान, दीपक पंडित, गणपत कुमार राम व विमल किशोर झा की भूमिका सराहनीय रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.