अररिया- स्कूल में पढ़ाने के बजाए आराम की नींद फरमा रहे थे शिक्षक,ग्रामीणों ने बनाया वीडियो,अधिकारी ने कहा होगी कार्रवाई।

अररिया से अंकित सिंह की रिपोर्ट। बिहार में बहार है नीतिसे कुमार और अब तेजस्वी भी सरकार है। बिहार सरकार सर्वश्रेष्ठ शिक्षा व्यवस्था को लेकर लाख दावे कर ले लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है जो सबको पता है। सुनिए मुख्यमंत्री नीतीश जी! और आप भी सुनिए उपमुख्यमंत्री तेजस्वी जी! आप तो बिहार में हर साल शिक्षा को लेकर करोड़ों का बजट जारी करते हैं और स्कूलों में सभी सुविधाओं को दुरुस्त करने के तमाम दावे करते हैं लेकिन आपके अररिया जिले के एक सरकारी स्कूल में दो नवाबी शिक्षक पढ़ाने के बदले नींद के आगोश में डूबा हुआ था। ग्रामीणों ने क्लास आवर में बेड पर सोते हुए शिक्षक का वीडियो बना लिया है और वीडियो वायरल कर दिया है। पूरा मामला नरपतगंज प्रखंड अंतर्गत प्लस टू जनता उच्च विद्यालय पिठौरा स्कूल के शिक्षक सुरेन्द्र कुमार सुमन व बमबम कुमार यादव से जुड़ा हुआ है। दरअसल पूरा वीडियो 27 सितंबर मंगलवार को बनाया गया था। इसके बाद लोग वीडियो को सोशल मीडिया पर अपलोड करने लगे। एक-दूसरे को शेयर करने लगे,जिससे सोते हुए शिक्षक का वीडियो वायरल हो गया। इस संबंध में ड्यूटी के दौरान सोने वाले शिक्षक सुरेन्द्र कुमार सुमन व बमबम कुमार यादव ने बताया कि जो वीडियो वायरल हो रहा है वह वीडियो लंच आवर का है लेकिन वीडियो में स्पष्ट दिख रहा है कि मास्टर साहब एक बच्चे को कह रहे हैं कि अभी समय नहीं हुआ है और आधा घंटा का समय है तुम लिखो जाकर,दूसरी तरफ वीडियो में साफ तौर पर देखा जा रहा है कि बच्चे लोग क्लास रूम में बैठकर कुछ लिख रहे हैं। मिली जानकारी अनुसार बच्चे लोग नवमीं और दसवीं का टेस्ट एग्जाम दे रहे हैं। ए मास्टर साहब अब आप ही बताइए अगर लंच का समय होता तो आप बच्चे को बैठकर कुछ लिखने को क्यों कहते? साहब अब तो आप पर और आपके शिक्षा विभाग पर सवाल उठ रहा है कई तरह के प्रश्नवाचक चिन्ह लग रहे हैं पहला सवाल अगर बच्चे क्लास रूम में बैठने के बदले जिम रूम या स्कूल के खुले मैदान में,आसमान के नीचे या फिर जहां मन तहां बैठकर देना एग्जाम देना शुरू करे तो उस बच्चे का फाइनल एग्जाम में क्या होगा? क्या इसी तरह आप जैसे शिक्षक लापरवाही करेंगे तो बच्चे फाइनल एग्जाम में पास हो जाएंगे? ए मास्टर साहब आप तो बच्चे के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

क्या कहते हैं जिला शिक्षा पदाधिकारी।

इस संबंध में अररिया जिला शिक्षा पदाधिकारी राजकुमार ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है और जांच के बाद आवश्‍यक कार्रवाई होगी। ड्यूटी के दौरान सो रहे शिक्षक को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.