अररिया- स्वास्थ्य विभाग के आहरण व व्ययन पदाधिकारी को दिया गया टीडीएस कटौती का प्रशिक्षण।

  • पीएचसी प्रभारी व आहरण अधिकारियों को आयकर कटौती से जुड़े प्रावधान की जानकारी होना जरूरी।
  • त्रुटिरहित आहरण व व्ययन कार्य संपादित करने के लिहाज से प्रशिक्षण महत्वपूर्ण

अररिया, 18 अगस्त। सदर अस्पताल सभागार में आयकर विभाग पूर्णिया द्वारा टीडीएस व टीसीएस विषय पर एक दिवसीय प्रशिक्षण सह कार्यशाला का आयोजन गुरुवार को किया गया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग के आहरण व व्ययन अधिकारियों को टीडीएस, जीसीएस व जीएसटी कटौती से संबंधित जरूरी जानकारी दी गयी। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ मोईज ने की। प्रशिक्षण कार्यक्रम में डीपीएम स्वास्थ्य, सभी पीएचसी प्रभारी व आहरण व व्ययन पदाधिकारियों ने भाग लिया। आयकर विभाग के पूर्णिया के टीडीएस वार्ड द्वारा आयोजित इस एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में मुख्य प्रशिक्षक के रूप में आयकर अधिकारी टीडीएस वार्ड सुबोध कुमार राय, आयकर इंस्पैक्टर अमोद कुमार राव, कार्यालय अधीक्षक श्रीतेज प्रसाद व रविरंजन ने भाग लिया।

आयकर के महत्वपूर्ण प्रावधानों की जानकारी होना जरूरी

प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ मोईज ने कहा कि आहरण व व्ययन पदाधिकारी को टीडीएस कटौती व इससे संबंधित महत्वपूर्ण प्रावधानों की विस्तृत जानकारी होना जरूरी है। ताकि त्रुटिरहित कार्य संपादित किया जा सके। इसलिये संबंधित कर्मियों को प्रशिक्षण से लाभ प्राप्त करते हुए अपने कार्य की गुणवत्ता में सुधार करना चाहिए । वहीं डीपीएम स्वास्थ्य रेहान अशरफ ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों के वेतन भुगतान, वितरण व खरीदारी के साथ-साथ स्वास्थ्य संस्थानों के मरम्मति कार्य में खर्च राशि में निर्धारित दर पर टीडीएस कटौती से जुड़े प्रावधानों की जानकारी पीएचसी प्रभारी व व्ययन पदाधिकारियों को होना जरूरी है। ताकि व्ययन अधिकारी इससे जुड़े कार्यों को त्रुटिरहित तरीके से संपादित करने में सक्षम हो सकें।

विभिन्न मद में खर्च राशि पर कर कटौती की दर निर्धारित

कार्यक्रम के मुख्य प्रशिक्षक आयकर अधिकारी सुबोध कुमार राय ने कहा कि आयकर विभाग में अलग-अलग उद्देश्य से खर्च की जाने वाली सरकारी राशि में निर्धारित दर पर टीडीएस कटौती का प्रावधान है। स्वास्थ्य विभाग के वैसे कर्मी जिनका मासिक वेतन 2.5 लाख से 05 लाख के बीच है, उनके लिये टीडीएस कटौती की दर 05 प्रतिशत निर्धारित है। मासिक आय 05 से 10 लाख के बीच होने पर 10 प्रतिशत व इससे अधिक मासिक आय होने पर 30 प्रतिशत टीडीएस कटौती की दर निर्धारित है। आउटसोर्सिंग से जुड़े कार्यों के लिये प्रति वर्ष 25 हजार तक खर्च करने पर कोई टीडीएस कटौती नहीं किया जाना है। 30 हजार से अधिक खर्च होने पर 02 प्रतिशत टीडीएस कटौती का प्रावधान है। आवश्यक सामग्री की आपूर्ति के लिये खरीदारी अगर एक साल में 01 लाख से अधिक रुपये की है तो 02 प्रतिशत की दर से टीडीएस की कटौती की जानी है। कार्यक्रम में नरपतगंज पीएचसी प्रभारी रूपेश कुमार, जोकीहाट पीएचसी प्रभारी डॉ शैलेंद्र यादव, पलासी पीएचसी प्रभारी डॉ जहांगीर आलम, भरगामा पीएचसी प्रभारी डॉ संतोष कुमार, रानीगंज पीएचसी प्रभारी डॉ संजय कुमार, सिकटी पीएचसी के डॉ एम अजमत राना, मो आरिफ रजा अख्तर, मनीष कुमार, पवन भगत सहित अन्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.