अररिया – 12 नवंबर को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन की तैयारी जोरों पर

नज़रिया न्यूज़, विधि संवाददाता, अररिया। व्यवहार न्यायालय अररिया मे आगामी 12 नवंबर को प्रस्तावित राष्ट्रीय लोक अदालत के आयोजन को लेकर तैयारियां जोरों पर की जा रही है। यह जानकारी जिला एवं सत्र न्यायाधीश पीयूष कमल दीक्षित के हवाले से एडीजे सह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव धीरेन्द्र कुमार ने दी है।

इस राष्ट्रीय लोक अदालत में मुख्य रूप से (1) दण्डनीय शमनीय मामले (2) एन आई एक्ट मामले (3) मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण के मामले जिसमे दुर्घटना सूचना रिपोर्ट तथा राज्य परिवहन मामले भी शामिल हैं। (4) वैवाहिक वाद परिवार न्यायालय के मामले (5) श्रम विवाद से संबंधित मामले जिसमे नीति के अनुसार बिना पारिश्रमिक के पुनः नियोजन के मामले जिसमे औद्योगिक श्रमिकों के मजदूरी तथा लाभों के मामले (6) भूमि अधिग्रहण मामलों तथा औद्योगिक बोर्ड ओ एन जी सी रेलवे से संबंधित भूमि अधिग्रहण से संबंधित वाद तथा उनसे संबंधित निष्पादन वाद (7) दीवानी न्यायालय से संबंधित वाद जिसमे किरायेदारी, बैंक वसूली, इज़मेन्ट राइट वाद से संबंधित वर्ण वसूली ट्रिब्यूनल के बाद (8) राजस्व वाद (9) मनरेगा (10) विद्युत, पानी व बिल से संबंधित वाद व विधुत चोरी (11) सेल्स टैक्स व इनकम टैक्स, इनडाइरेक्ट टैक्स रेवेन्यू से संबंधित व अन्य कमर्शियल से संबंधित टैक्स (12) सर्विस मैटर से संबंधित वाद (13) वन अधिनियम से संबंधित मामले (14) केंटोनमेंट बोर्ड से संबंधित मामले (15) रेलवे क्लेम से संबंधित मामले (16) आपदा क्षतिपूर्ति से संबंधित मामले (17) अपील दांडिक सिविल एवं प्रक्रीन वाद मूल्य वाद याचिकाएं मोटर दुर्घटना दावा अपील (18) व दो लाख से कम अमाउंट वाले 138 एन आई एक्ट के मुकदमे तथा अन्य सभी आच्छादित मामले जो आपसी सुलह समझौते के आधार पर निस्तारित कराये जाएंगे।

एडीजे सह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव धीरेन्द्र कुमार ने बताया कि इस संबंध में यदि कोई पक्षकार अपना मामला राष्ट्रीय लोक अदालत मे नियत करना चाहते हैं तो वह संबंधित न्यायालय मैं प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर वाद निस्तारित करा सकते हैं।

एडीजे सह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव धीरेन्द्र कुमार ने कहा कि जिला विधिक सेवा प्राधिकार अररिया दिनांक 12 नवंबर 2022 को होने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत के सफल संचालन के लिए अधिक से अधिक संख्या में वादों का निष्पादन कराने के लिए वृहद स्तर पर पूरे जिले में प्रचार प्रसार का कार्य कर रहा है।

बताया गया कि इसी क्रम में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकार महोदय के प्रकोष्ठ में सभी बैंकर्स के साथ आवश्यक बैठक की गई तथा उन्हें आवश्यक निर्देश अधिक से अधिक वादों का लोक अदालत में निष्पादन कराने का संदर्भ में दिया गया लोक अदालत में सभी तरह के सुलानिया वादों का निष्पादन कराया जाएगा विशेषकर सभी आपराधिक सुलहनिय प्रकृति के बाद दीवानी वाद फैमिली से संबंधित विवाद विवाह विच्छेद को छोड़ कर, श्रम, माप तोल से संबंधित वाद और बिजली विभाग से संबंधित वादों इत्यादि का निष्पादन कराने का लक्ष्य रखा गया हैं।

एडीजे सह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव धीरेन्द्र कुमार ने अररिया जिले के समस्त नागरिकों से निवेदन किया है कि वह अपने-अपने सुलहनिय प्रकृति के वादों का निष्पादन आगामी 12 नवंबर 2022 को होने वाले लोक अदालत में अपने-अपने वादों का निष्पादन करावे।

राष्ट्रीय लोक अदालत की सफलता के लिए जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन सहित डीएलएसए के सभी 50 पैनल अधिवक्ता व सभी 100 पीएलवी तल्लीन हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.