जिले में अचानक वायरल फीवर रोगियों की संख्या बढ़ी ।

– सलाह : सर्दी, खाँसी, बुखार के कोरोना जैसे लक्षण से न घबराएं

– शंका होने पर जरूर कराएँ कोविड की जाँच : सीएस

मोतिहारी, 24 अगस्त।जिले के सदर अस्पताल व अन्य स्वास्थ्य केंद्रों पर इन दिनों सैकड़ों लोग इलाज कराते दिखाई दे रहे हैं। इनमें सबसे ज्यादा रोगी वायरल फीवर के हैं। ज्यादातर घर में बच्चे, बूढ़े व आम लोगों के वायरल बुखार, सर्दी, खाँसी से संक्रमित होने की बात सामने आ रही है- यह बात पूर्वी चम्पारण के सिविल सर्जन डॉ अंजनी कुमार ने कही। उन्होंने बताया कि सर्दी, खाँसी, बुखार के साथ ही कोरोना के संक्रमण का असर भी जिले में देखने को मिल सकता है। इसलिए कोविड के लक्षण महसूस होने पर लोगों को बिना शंका किए कोविड की जाँच करानी चाहिए।

खाँसी, बुखार के लक्षण से न घबराएं-

जिले के डीआईओ डॉ शरत चन्द्र शर्मा ने कहा कि इन दिनों कोरोना जैसे लक्षण ही मौसमी वायरल बुखार के भी देखने को मिल रहे हैं। पर लोग इससे घबराएं नहीं, सही समय पर सरकारी अस्पताल में जाकर जाँच एवं इलाज कराएँ। उन्होंने बताया कि इस मौसम में सर्दी, खांसी, जुकाम और बुखार यानी वायरल फीवर जैसी बीमारी आम है। वायरल बुखार होने पर यह 4 से 6 दिन में दवा लेने पर ठीक हो जाता है, लेकिन इन दिनों कोरोना महामारी के कारण बुखार के लक्षण दिखाई देने पर अधिकांश लोग इसे कोरोना समझने लगे हैं। उन्होंने बताया कि अभी भी कोविड का दौर खत्म नहीं हुआ है। मंगलवार को जिले में 2 नये मरीज मिले हैं। इसके साथ ही जिले में कोरोना के 8 एक्टिव केस हो गये हैं।

100 से 120 मरीज आ रहे हैं वायरल फीवर के-

जिले के सदर अस्पताल के डीएस डॉ एस एन सिंह व स्वास्थ्य प्रबंधक, भारत भूषण ने बताया कि इन दिनों सदर अस्पताल के ओपीडी में वायरल फीवर के मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। प्रतिदिन लगभग 100 से 120 मरीज वायरल फीवर के आ रहे हैं। वायरल फीवर की दवाएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। मरीज को परेशान होने की आवश्यकता नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.