टीचर्स ऑफ बिहार द्वारा “सवाल आपके,जवाब हमारे” लेट्स टॉक कार्यक्रम आयोजित

नजरिया न्यूज़। एक्सक्लूसिव लाइव कार्यक्रम में चहक प्रशिक्षण पर शिक्षा विभाग के उच्च पदाधिकारियों से अपने सवालों को पूछने का मौका दिया गया। कार्यक्रम की शुरुआत शशिधर उज्जवल द्वारा किया गया। सवालों का जवाब देने किरण कुमारी अपर राज्य परियोजना निदेशक, बिहार शिक्षा परियोजना परिषद सय्यद अब्दुल मोइन पूर्व निदेशक, दूरस्थ शिक्षा, एससीईआरटीएवं कंसलटेंट यूनिसेफ बिहार विभा कुमारी राज्य समन्वयक,चहक प्रशिक्षण, एससीईआरटी इस कार्यक्रम को टीचर्स ऑफ बिहार के फेसबुक पेज पर आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम को मोडरेट किया शशिधर उज्जवल ,चंचला तिवारी एवम केसव कुमार ने। केशव जी द्वारा मोइन सर से प्रधान शिक्षकों को भी प्रशिक्षण में शामिल किया गया है,इसके क्या कारण है? वैसे प्रधानाध्यापक जो प्रशिक्षण में कम रुचि दिखाते हैं और वे मानते हैं कि प्रधानाध्यापक का कार्य सिर्फ प्रशासनिक है उनके लिए आप क्या कहना चाहेंगे ? उसी क्रम में चंचला तिवारी द्वारा सभी अतिथि पदाधिकारियों से वर्तमान समय में विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर चहक प्रशिक्षण को लेकर कई वीडियो वायरल किए जा रहे हैं इनमें से कई गतिविधियों को तोड़ मरोड़ कर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नकारात्मक रूप में प्रदर्शित किया जा रहा है। इससे समाज में प्रशिक्षण और शिक्षकों की एक नकारात्मक छवि बन रही है। कुछ लोग इसे नाच गाने या सिर्फ मनोरंजन का पर्याय मान रहे हैं। आप प्रशिक्षण को किस रूप में देखते हैं। चहक प्रशिक्षण मॉड्यूल प्रतिदिन तीन घंटे के हिसाब से तैयार की गई है। सभी का जवाब बारी बारी से मुख्य वक्ताओं द्वारा दिया गया।
उक्त जानकारी टीचर्स ऑफ बिहार के प्रदेश प्रवक्ता रंजेश कुमार एवं प्रदेश मीडिया संयोजक-मृत्युंजय ठाकुर ने संयुक्त रूप से दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.