पटना – सातवें चरण की बहाली को लेकर सचिवालय को घेरेंगे STET शिक्षक अभ्यर्थी

पटना नजरिया न्यूज़ :

बिहार में शिक्षक भर्ती की सातवें चरण की प्रक्रिया की शुरुआत को लेकर आक्रोशित अभ्यर्थी आज पटना में सचिवालय का घेराव करेंगे। छात्रों का कहना है कि सरकार बार-बार प्रक्रिया को टाल रही है। बिहार में शिक्षक भर्ती की सातवें चरण की प्रक्रिया की शुरुआत को लेकर आक्रोशित अभ्यर्थी आज पटना में सचिवालय का घेराव करेंगे। STETअभ्यर्थी दोपहर 12 बजे के बाद राजधानी पटना  में सचिवालय का घेराव कर प्रदर्शन करेंगे। बीते दिनों हुए प्रदर्शन में कई छात्रों को पुलिस कि पिटाई से गंभीर चोटें आयी थी। जिसके बाद बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने अभ्यर्थियों को आश्वासन दिया था कि जल्द ही सातवें चरण की बहाली प्रक्रिया शुरू हो जायेगी। अभ्यर्थियों ने सरकार को 5 सितम्बर शिक्षक दिवस का अल्टीमेटम दिया था। अभ्यर्थियों का कहना है कि अल्टीमेटम के बावजूद सरकार ने कोई निर्णय नहीं लिया है।

फिर पीटेगी या सुनेगी सरकार 
अगस्त में हुए प्रदर्शन में पुलिस ने बर्बरतापूर्ण तरीके से लाठीचार्ज किया था। जिसके बाद कई शिक्षक अभ्यर्थी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मामले की जांच कराने का आश्वासन दिया था लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। सातवें चरण की प्रक्रिया शुरू करने की मांग को लेकर एक बार फिर से अभ्यर्थी सूबे की राजधानी पटना में सचिवालय का घेराव कर प्रदर्शन करेंगे।

शिक्षक दिवस तक दिया था अल्टीमेटम 
अभ्यर्थियों ने सरकार को 5 सितंबर तक प्रक्रिया शुरू करने का अल्टीमेटम दिया था। उन्होंने कहा था कि सातवें चरण की प्रक्रिया के संबंध में अगर 5 सितंबर तक निर्णय लेकर डेट घोषित नहीं की जाती है तो विरोध प्रदर्शन फिर से शुरू किया जाएगा। अभ्यर्थियों ने बताया कि सरकार ने दी गयी तारीख तक कोई निर्णय नहीं लिया है। सरकार केवल प्रक्रिया को टाल रही है।

तेजस्वी दे चुके हैं आश्वासन 
बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव अगस्त में हुए प्रदर्शन के बाद अभ्यर्थियों को आश्वासन दे चुके हैं कि सरकार जल्द ही सातवें चरण की प्रक्रिया शुरू करेगी लेकिन अब तक इस बाबत कोई निर्णय नहीं लिया गया है। बीते दिनों आक्रोशित अभ्यर्थी शिक्षामंत्री चंद्रशेखर से मिलने पहुंचे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया था। सरकार बार-बार 20 लाख नौकरी का वादा करती रही है। हाल ही में तेजस्वी ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि जिन लोगों को विश्वास नहीं हो रहा है, वो कुछ दिन रुकें फिर देखें। सरकार अपने वादे को लेकर कायम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.