पुर्णिया- डायन कह कर महिला का अपहरण करने के बाद की हत्या।

1. अंधविश्वास के कारण गई एक महिला की जान
2. ओझा के बाद में आकर मृतक के पिता एवं सहयोगियों ने महिला की जगह जगह काटकर की हत्या
3. सांप काटने से हुई थी बच्चे की मौत जिसके बाद डायन होने के शक पर महिला को किया था गायब

नजरिया संवाद, संतोष कुमार धमदाहा/पुर्णिया। डायन कह कर जिस महिला को रात के 12:00 बजे मारपीट कर घर से गायब कर दिया गया था उसकी लाश आखिरकार पुलिस ने 26 दिन के बाद धमदाहा थाना क्षेत्र के कवैया बहियार से बरामद किया है। मृतिका के गले एवं शरीर पर कई जगह तेज धारदार हथियार से काटने का जख्म है। तो पुलिस ने मानव कंकाल एवं मांस का लूथरा खेत में जमीन के नीचे से बरामद किया है। हालांकि जिस बेडशीट एवं साड़ी में लाश को लपेटा गया था उसे देखकर मृतिका की बहन ने उसकी पहचान रंजना देवी के रूप में कर लिया है। जी हां डायन होने के शक पर धमदाहा थाना क्षेत्र के सुरजुगा गांव की रंजना देवी को उसके ही गांव के मंटू उरांव एवं उनके सहयोगियों ने 28 जुलाई 22 की रात 12:00 बजे उसके घर में पहले मारपीट किया तो बाद में उसे गायब कर दिया। इस घटना को लेकर मृतिका की बहन रंजू देवी ने धमदाहा थाना में 5 अगस्त को प्राथमिकी दर्ज कराई थी। जिसमें उन्होंने मंटू उरांव एवं उसकी पत्नी सहित छह लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई थी। तो इस घटना को लेकर मृतिका कि बहन रंजू देवी ने बताया था कि 7 दिन पूर्व गांव के मंटू राव के 11 वर्षीय पुत्र की सांप काटने के कारण मौत हो गई थी जिसके बाद गांव के कुछ लोग गांव के ही ओझा के बात में आकर उसकी बहन रंजना देवी को डायन बताकर घर में घुसकर बुरी तरह से मार काट कर जख्मी कर दिया उसके बाद अचानक से उसे गायब कर दिया। मृतिका कि बहन को पूर्व से ही आशंका थी कि उसकी बहन को मंटू उरांव एवं उसके सहयोगियों ने अंधविश्वास में आकर हत्या कर दिया है। बताया जाता है कि गांव के एक ओझा ने मंटू उरांव से यह कह�

Leave a Reply

Your email address will not be published.