पूर्णिया- 4 में से 3 पंचायत में बंद पड़ा है नलकूप किसानों को नहीं मिल रहा है सिंचाई का लाभ।

नजरिया संवाद, संतोष कुमार धमदाहा /पूर्णिया। लघु सिंचाई विभाग के अधीनस्थ संचालित नलकूप का भौतिक सत्यापन शनिवार को प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी चंदन कुमार ने किया। इस संबंध में पूछे जाने पर बीपीआरओ चंदन कुमार ने बताया कि जिला से प्राप्त पत्र के आलोक में धमदाहा प्रखंड के कुल 9 पंचायत में पूर्व से संचालित नलकूप में से 5 पंचायत के भौतिक सत्यापन किया गया है। शनिवार को राजघाट गरैल, कुकरौन पूर्व, मुगलिया पुरंदाहा पूरब, चंपावती  एवं माली के नलकूप का भौतिक सत्यापन किया गया। जिसमें राजघाट गरैल पंचायत में लगाए गए मोटर खराब पड़ा हुआ है तो वही टंकी से पाइप का कनेक्शन भी टूटा हुआ है तो मोटर रखने वाले कमरे की स्थिति खराब है। वही कुकरौन पूर्व में जो मोटर नलकूप योजना के तहत किसानों के सिंचाई के लिए लगाया गया है वह चालू स्थिति में नहीं है।  वहीं चंपावती पंचायत में नलकूप चालू स्थिति में मिला है। इस संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि नलकूप योजना की वास्तविक स्थिति की रिपोर्ट तैयार कर जिला को भेजी जा रही है। जिसमें मुख्य रूप से यह चिन्हित किया जाना है कि अलग-अलग पंचायत में संचालित नलकूप से कितने किसानों के कितनी भूमि में सिंचाई का कार्य संपन्न हो रहा है या नहीं हो रहा है। बताना मुनासिब होगा कि भौतिक सत्यापन के दौरान किसी भी पंचायत के नलकूप गृह के पास मोटर संचालक नहीं मिला है। इस संबंध में पूछे जाने पर सहायक अभियंता नलकूप विभाग अरविंद कुमार ने बताया कि कुछ दिन पूर्व विभाग के द्वारा नलकूप संचालन की जवाबदेही ग्राम पंचायत को दे दी गई है जिसके तहत पंचायत के मुखिया द्वारा ही मोटर संचालक की नियुक्ति किया जाना है। निरीक्षण के दौरान कहीं भी मोटर संचालक नहीं मिला है। निरीक्षण के दौरान कनीय अभियंता चंद्रकांत भी साथ साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.