बेतिया- पांच सितंबर से होने वाले आइआरएस चक्र के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षण।

– कालाजार से प्रभावित 11 प्रखंडों के 30 गांवों में होगा छिड़काव
– मलेरिया कार्यालय में हुआ स्वास्थ्य कर्मियों का प्रशिक्षण

बेतिया, 2 सितंबर। कालाजार से प्रभावित जिले के 11 प्रखंडों के 30 गांवों में पांच सितंबर से आइआरएस   के द्वितीय चक्र की शुरुआत होगी। प्रभावित इलाकों में छिड़काव के लिए शुक्रवार को मलेरिया कार्यालय में स्वास्थ्य कर्मियों की कुल 19 टीम बनायी गयी है, जो चिन्हित इलाकों में सिंथेटिक पॉयराथॉयराइड पाउडर का छिड़काव करेगी। जिला भीबीडीसी पदाधिकारी डॉ हरेन्द्र कुमार ने बताया कि कालाजार के उन्मुलन के लिए आइआरएस चक्र का आयोजन वर्ष में दो बार कराया जाता है। जिसमें घर की दीवारों और नमी युक्त क्षेत्रों में छिड़काव किया जाता है।

कालाजार कक्षा का होगा आयोजन-

छिड़काव से संबंधित गांव के विद्यालयों में आशा के सहयोग से कालाजार कक्षा का आयोजन होगा। जिसमें छिड़काव पूर्व एवं छिड़काव पश्चात बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में बच्चों को बताया जाएगा एवं संबंधित गांव में छिड़काव की तिथि बच्चों की कॉपी में लिखवाई जाएगी। कॉपी में अंकित तिथि को बच्चे अपने मां तथा पिता को अवश्य दिखाएंगे।

होगा एसपी छिड़काव-

जिला भीबीडीसी पदाधिकारी डॉ हरेन्द्र कुमार ने बताया कि छिड़काव के दौरान प्रतिवेदित नए कालाजार मरीजों के गांवों में भी एसपी छिड़काव कराया जाएगा। छिड़काव पश्चात बचत मानव दिवस से जिले के वैसे गांवों  में एसपी छिड़काव कराया जाएगा जहां द्वितीय चक्र के दौरान पुनः उसी गांव में कालाजार मरीज प्रतिवेदित होते हैं।

60 दिनों का होगा छिड़काव-

डॉ हरेन्द्र कुमार ने बताया कि 60 दिनों तक चलने वाले इस छिड़काव में घरों की दीवालों के छह फुट तक के भाग में छिड़काव किया जाएगा। जिसमें घर के कमरे तथा गौशाला भी शामिल हैं। छिड़काव के बाद तीन महीने तक घर में रंगाई या पुताई नहीं करानी है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिला भीबीडीसीओ डॉ हरेन्द्र कुमार, भीडीसीओ रमेश कुमार मिश्रा, सुनील कुमार, भीबीडीएस सुजीत कुमार वर्मा, अरुण कुमार, केयर इंडिया के केबीसी श्याम सुंदर कुमार एवं धर्मेंद्र यादव सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.