बेतिया- विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर आयोजित हुआ जागरूकता कार्यक्रम।

– नि:शुल्क मानसिक स्वास्थ्य संबंधित परामर्श की है सुविधा
– मानसिक तनाव से बचने के बारे में दी गई जानकारी

बेतिया,10 अक्टूबर। जिले में सोमवार को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर सिविल सर्जन डॉ बिरेंद्र कुमार चौधरी के मार्गदर्शन में जिला गैर संचारी रोग के ओपीडी में मानसिक मरीजों को मानसिक स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया गया। सिविल सर्जन ने कहा कि स्वस्थ जीवनशैली व तनाव मुक्त होकर मानसिक रोग से बचा जा सकता है। इस अवसर पर जिला गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ मुर्तजा अंसारी, एचओडी साइकियाट्री डॉ नुपुर निहारिका तथा एफएलसी कन्हैयाजी ने विभिन्न मानसिक रोगों यथा साइकोसिस, न्यूरोसिस, एपिलेप्सी (चमकी), अवसाद, डिमेंशिया, सब्सटेंस एब्यूज आदि के बारे में मरीजों को जानकारी तथा बचाव के उपायों के बारे में विस्तृत चर्चा की। डॉ मुर्तुजा अंसारी ने तनावमुक्त जीवनशैली अपनाने पर बल दिया। उन्होने बताया कि कुंठा, अवसाद एवं तनाव सभी गम्भीर बीमारियों जैसे उच्च रक्तचाप, माइग्रेन, मधुमेह इत्यादि की जननी है। डॉ अंसारी ने ये भी कहा कि तनाव से मुक्त रहने के लिए नियमित व्यायाम, प्राणायाम, स्वस्थ जीवन शैली अपनायें व स्वस्थ जीवन बसर करें।

मंडल कारा में भी जागरूकता कार्यक्रम-

मण्डल कारा बेतिया में भी विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर एनसीडीओ डॉ अंसारी के नेतृत्व में क्लिनिकल साइकोलाइजिस्ट वरूण कुमार, साइकोलॉजिस्ट अभिषेक कुमार व वार्ड सहायक सतीश कुमार ने कैदियों को मानसिक रूप से कुंठाग्रस्त, तनावग्रस्त व अवसादग्रस्त से मुक्त रहने के उपाय बताए एवं स्वस्थ जीवन शैली बिताने के लिए विस्तृत जानकारी दी।

बैनर पोस्टर के माध्यम से किया जागरूक-

इस मौके पर एफएलसी कन्हैयाजी ने बताया कि मानसिक तनाव से बचाव के बारे में लोगों को स्वास्थ्य संस्थानों पर बैनर-पोस्टर, हैंडबिल, पम्पलेट के माध्यम से जागरूक किया जा रहा है। इस अवसर पर एफएलसी कन्हैयाजी, एनसीडी काउन्सलर निर्दोष कुमार, फिजियोथेरेपिस्ट रूमान जावेद, जीएनएम, एएनएम, एनपीसीडीसीएस, एनएमएचपी, एनपीएचसीई इत्यादि स्वास्थ्यकर्मी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.