बेतिया- सरकारी अस्पतालों की जांच के लिए बनी कमिटी।

– कमिटी प्रत्येक बुधवार को करेगी जिले के सदर और पीएचसी की जांच
– वित्तीय और स्वास्थ्य कार्यक्रमों एवं सुविधाओं का करेगी मुआयना

बेतिया। 29 अगस्त। जिले के अनुमंडल और प्रखंड स्तरीय सरकारी अस्पतालों में स्वास्थ्य कार्यक्रम को सुचारू बनाने के लिए सिविल सर्जन डॉ वीरेन्द्र कुमार चौधरी ने कमिटी गठित ही है। यह कमिटी प्रत्येक बुधवार को अनुमंडलीय या प्रखंड स्तरीय सरकारी अस्पतालों में जाकर वहां चल रहे स्वास्थ्य कार्यक्रमों और वित्तीय स्थिति का जायजा लेगी। इस संबंध में सीएस डॉ चौधरी ने कहा कि कुछ जगहों पर स्वास्थ्य कार्यक्रमों का संचालन धीमा है। वहीं विभिन्न स्वास्थ्य कार्यक्रमों के लिए वित्तीय मदों के खर्च पर भी नजर बनायी रखनी थी। इस कारण कमिटी गठित की गयी है। इसके तहत जिला स्वास्थ्य समिति के विभिन्न पदाधिकारियों और कर्मचारियों को अतिरिक्त जिम्मेवारी देते हुए एक नियत समय दिया गया है। जिसमें वह उक्त तिथि को जाकर उस सदर अस्पताल या पीएचसी का मुआयना करेंगे। वे वहां प्रसव व्यवस्था, नियमित टीकाकरण, परिवार नियोजन, कोविड टीकाकरण, दवाओं की स्थिति और ओपीडी सहित टेलिमेडिसीन की व्यवस्था पर भी नजर रखेगें। राज्य मुख्यालय से आने वाले स्वास्थ्य कार्यक्रमों के निर्देश के आधार पर चल रहे स्वास्थ्य कार्यक्रमों की मौजूदा स्थिति का भी आकलन करेंगे।

तीन दिन में देना होगा प्रतिवेदन-

डीपीएम सलीम जावेद ने बताया कि कमिटी अपना काम सितंबर माह के प्रथम हफ्ते से शुरू करेगी। जांच पर गए पदाधिकारी या कर्मचारी को जांच की रिपोर्ट तीन दिन के अंदर सिविल सर्जन ऑफिस में जमा करनी होगी।

सुधरेगी स्वास्थ्य व्यवस्था-

डीपीसी अमित कुमार गुप्ता ने बताया कि जांच कमिटी से जिले की स्वास्थ्य गुणवत्ता में काफी सुधार होगा। स्वास्थ्य कार्यक्रमों के का संचालन में तेजी आयेगी। दूर-दराज के क्षेत्रों में भी समान स्वास्थ्य सिविधा मुहैया हो पाएगी। यही जिला स्वास्थ्य समिति पश्चिमी चंपारण की मंशा भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.