भागलपुर- बेगूसराय में फायरिंग, पटना में अपहरण, अब भागलपुर में बिजनेसमैन की हत्या

  • क्राइम से कराह उठा बिहार: अब भागलपुर में बिजनेसमैन की हत्या

भागलपुर/बिहार नजरिया न्यूज़ : बेगूसराय में बाइक सवार बदमाशों ने 4 थाना क्षेत्रों से गुजरते हुए करीब 30 किलोमीटर तक फायरिंग कर दहशत फैला दिया तो पटना में दो अस्पताल मालिकों का अपरहण कर अपराधियों ने कानून व्यवस्था को कड़ी चुनौती दी। बिहार क्राइम से कराह रहा है। सरकार के बड़े बड़े दावों के बीच अपराधियों के हौसले बुलंद हैं वहीं पुलिस प्रशासन पस्त है। बेगूसराय में बाइक सवार बदमाशों ने 4 थाना क्षेत्रों से गुजरते हुए करीब 30 किलोमीटर तक फायरिंग कर एक की जान ले ली और दहशत फैला दिया। लेकिन, पुलिस पकड़ नहीं पाई। यह आग ठंडी भी नहीं हो पाई थी कि एक दिन बाद राजधानी पटना में अस्पताल मालिकों का अपरहण कर अपराधियों ने कानून व्यवस्था को कड़ी चुनौती दी। बेलगाम अपराधी यहीं नही रुके। एक बार फिर बुधवार की रात भागलपुर में सिल्क कारोबारी की गोली मारकर हत्या कर दी।

बुधवार की रात नाथनगर थाना क्षेत्र के मोमिन टोला निवासी सिल्क के बड़े कारोबारी मोहम्मद अफजाल को अपराधियों ने गोलियों से भून डाला। घटना  लगभग 10:30 बजे की है। घर के ही पास चार बाइक पर सवार होकर आए बदमाशों ने कारोबारी पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। कारोबारी अफजाल को चार गोली लगने की बात पुलिस अधिकारी बता रहे हैं। उन्हें तुरंत इलाज के लिए मायागंज स्थित अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना मिलने पर एसएसपी बाबूराम, एसपी सिटी स्वर्ण प्रभात, एएसपी सिटी शुभम आर्य सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी और जवान घटनास्थल पर पहुंचे।

बेगूसराय सीरियल फायरिंग: 4 थानों के सामने से भागे गोलीकांड के क्रिमिनल, अब 22 जगह मजिस्ट्रेट की तैनाती

सिल्क कारोबारी मोहम्मद अफजाल नाथनगर थाना क्षेत्र के मोमिन टोला के रहने वाले थे। मोमिन टोला मोड़ पर ही उनकी दुकान के पीछे घर भी है। वे घर से निकल कर दुकान के पास लगी बाइक लेने के लिए आए थे, उसी दौरान पहले से मौजूद बाइक पर सवार बदमाशों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद बाइक सवार बदमाश चंपानगर की तरफ भाग निकले। गोलियों की आवाज सुन कारोबारी के परिजन और आसपास के लोग वहां पहुंचे और इलाज के लिए उन्हें अस्पताल भेजा गया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। स्थानीय लोगों का कहना है कि अफजाल का व्यवसाय काफी बड़ा था और कई राज्यों में वे सिल्क के कपड़ों की सप्लाई करते थे।

एनएच 80 से 9 खोखा पुलिस ने बरामद किया, लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई

घटना के बाद पहुंचे पुलिस पदाधिकारियों ने घटनास्थल के आसपास एनएच 80 पर नौ खोखा बरामद किया। आसपास के लोगों का कहना है कि अपराधियों ने लगभग 15 राउंड फायरिंग की थी। बाइक सवार सभी बदमाशों के पास हथियार था। पुलिस ने घटनास्थल को रस्सी से घेर रखा है। सिल्क कारोबारी की हत्या की बात सुन काफी संख्या में लोग घटनास्थल के आसपास पहुंच गए। लोगों की भीड़ इस कदर इकट्ठा हो गई किस सड़क पर वाहनों का आना-जाना भी रुक गया। एसएससी बाबूराम देर रात तक मृतक कारोबारी के परिजनों से पूछताछ करते दिखे। शुरुआत में अपराधियों को अज्ञात बताया जा रहा था लेकिन घटना के एक घंटे के अंदर ही उनमें से कई की पहचान होने की भी बात कही गई।

पटना से प्राइवेट अस्पताल के दो मालिकों का अपहरण, 10 लाख की फिरौती मांगी, छपरा से बरामद

जमीन विवाद की बात आ रही सामने

अफजाल की हत्या के पीछे जमीन विवाद होने की चर्चा है। पता चला है कि नाथनगर मुख्य बाजार में कुछ बेशकीमती दुकानों को अफजाल ने कबीरपुर के किसी जमीन कारोबारी को बेच दी थी। इसी आक्रोश में कई वार बदमाशों ने उसकी हत्या करने की पहले भी कोशिश की थी। एक-दो वार नाथनगर मुख्य बाजार में बम विस्फोटक व हवाई फायरिंग भी की थी। अफजाल की हत्या के बाद परिजनों व नवविवाहिता पत्नी सहित परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। घटनास्थल पर पहुंचे नाथनगर इंस्पेक्टर मो. सज्जाद हुसैन ने एनएच 80 पर पड़े करीब दर्जनभर खोखे देखे। एनएच 80 पर घटनाथल की दोनों तरफ से घेराबंदी कर दी गयी। कुछ देर बाद एफएसएल की टीम भी मौके पर आ गई। उसने घटनास्थल और खोखे का बारीकी से मुआयना किया। वरीय अधिकारियों के आने तक घटनास्थल को सील कर दिया गया था।

क्या कहते हैं एसएसपी

भागलपुर के एसएसपी बाबूराम ने बताया कि  अस्पताल ले जाने के दौरान ही गोली लगने से घायल कारोबारी की मौत हो गई। घटनास्थल के आसपास से कई खोखा बरामद किए गये हैं। घटना की जांच चल रही है और अपराधियों की तलाश में छापेमारी भी शुरू कर दी गई है। अपराधियों को जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

इससे पहले मंगलवार की देर रात अपराधियों ने राजधानी पटना के कंकड़बाग थाना इलाके में स्थित मेडिविजन अस्पताल के दो मालिकों का  अपहरण कर लिया।  एम्बुलेंस संचालक से विवाद में अपहरण की घटना को अंजाम देने की बात बताई गयी। इसके साथ ही एक महिला सहित तीन अपहरणकर्ताओं को सारण पुलिस की मदद से गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि, बुधवार की देर शाम सारण जिले के डेरनी थाना इलाके के एक गैराज से दोनों को बरामद कर लिया गया।

मंगलवार को ही बेगूसराय के इतिहास में पहली बार बेखौफ बाइक सवार दो बदमाशों ने 11 निर्दोष लोगों को गोली मार दी। इनमें से एक की मौत घटनास्थल पर हो गई। जबकि शेष अन्य घायल हो गए। जख्मियों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। दिनदहाड़े फायरिंग करने की घटना सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.