मधुबनी/बिहारः सेप्टिंक टैंक बना मौत का कुआं, एक साथ 4 मजदूरों की दर्दनाक मौत

मधुबनी नजरिया न्यूज़ : मधुबनी में सेप्टिंक टैंक बना मौत का कुआं, एक साथ 4 मजदूरों की एक साथ मौत से गांव में कोहराम मच गया है। उनकी पहचान को लेकर अभी जानकारी नहीं मिली है। बताया गया है कि एक ग्रामीण के मकान में बन रहे शौचालय की टंकी का सेटरिंग मजदूर खोल रहे थे। बिहार के मधुबनी जिले में एक बड़ा हादसा हुआ जिसमें चार मजदूरों की दर्दनाक मौत हो गई। घटना हरलाखी प्रखंड के हरिने गांव की है। बताया गया है कि सभी मजदूर एक निर्माणाधीन मकान में शौचालय की टंकी में काम करने गये थे। पुलिस ने भी शवों को कब्जे में ले लिया है और मामले में कार्रवाई शुरू कर दिया है।

चार मजदूरों की एक साथ मौत से गांव में कोहराम मच गया है। उनकी पहचान को लेकर अभी जानकारी नहीं मिली है। बताया गया है कि एक ग्रामीण के मकान में बन रहे शौचालय की टंकी का सेटिंग खोलने में मजदूर काम कर रहे थे। बारी बारी से चारो मजदूर टंकी के भीतर गये और बेहोश होते गए। जबतक उन्हें बाहर निकाला जाता तबतक उनकी मौत हो गई। हरलाखी पुलिस ने मौके पर जांच शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि टंकी में जहरीली गैस बन गई थी जिसकी चपेट में सभी मजदूर आ गए और दम घुटकर उनकी मौत हो गई।

पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल में भेज दिया है। स्थानीय लोगों ने मृत मजदूरों के परिजनों के लिए मुआवजे की मांग की है। पुलिस छानबीन में जुट गई है। बिहार में अक्सर ऐसी घटनाएं होती रहती हैं जब सेटरिंग टैंक में दम घुटकर मजदूरौं की मौत हो जाती है। लेकिन सरकार या मजदूर संगठनों के स्तर पर जागरुकता कार्यक्रम और प्रशिक्षण नहीं कराये जाते हैं जिसकी वजह से भोले भाले मजदूर मौत के शिकार बन जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.