मां दुर्गा की प्रतिमा को सैकड़ों भक्तों ने कंधे पर उठाकर कराया नगर भ्रमण,नम: आंखों के बीच हुआ विसर्जन

– भक्तों ने सुख, शांति, समृद्धि के लिए की कामना,मां दुर्गा का जयकारा से गुंजायमान हुआ शहर
-ढ़ाक व ढ़ोल के धुन पर नाचे झुमे भक्तगण,हर तरफ गुंज रहा था विदाई भजन

जिले में विजयादशमी बड़े धूमधाम ही धूम-धाम से मनाया गया. इस दौरान दुर्गापूजा को लेकर चहुंओर उत्सव का माहौल दिखा. मां दुर्गा के विसर्जन में भारी संख्या में भक्तगण शामिल हुए. बीते नौ दिनों से चला आ रहा नवरात्र का त्योहार बुधवार को मां दुर्गा के प्रतिमा विसर्जन के साथ संपन्न हो गया. श्रद्धालुओं ने नम: आंखों से मां दुर्गा को विदाई दी. इस दौरान भक्तों ने मां दुर्गा की प्रतिमा सैकड़ों भक्तों ने कंधा को उठाकर नगर भ्रमण कराया.भक्तों ने जय मां दुर्गा, जय अम्बे के नारे लगाये. जिससे माहौल भक्ति मय था. वहीं श्रद्धालु मां दुर्गा को पुन: अगले साल आने की कामना की. मां दुर्गा की प्रतिमा को नम: आंखों से शहर के किनारे परमान नदी में विसर्जित कर दिया गया. इससे पहले नवमी के दिन धूम-धाम से पूजा स्थलों में देवी मां की पूजा अर्चना की गयी. विशेष पूजा अर्चना में शामिल होने को लेकर भक्त उत्साहित थे. मंदिर पहुंच कर देवी मां के दर्शन का सिलसिला सुबह से आरंभ होकर आधी रात तक जारी रहा. इस दौरान हजारों की संख्या में देवी मां के भक्त अलग-अलग पूजा स्थलों में पूजा अर्चना के लिए पहुंचे. प्रतिमा विसर्जन की प्रक्रिया दसवीं को अहले सुबह से ही आरंभ हो चुकी थी. मां दुर्गा की प्रतिमा को दर्शन करने के लिए शहर के चांदनी चौक, काली मंदिर चौक व पचकोड़ी चौक पर हजारों की संख्या में लोग पहले से विसर्जन के लिए निकली प्रतिमाओं के स्वागत में खड़े थे. इस दौरान सभी धर्म के लोग भी प्रतिमा विसर्जन में शामिल थे. प्रतिमा विसर्जन को देखने के लिए नदी के तट वाली सैकड़ों एकड़ खाली जमीन लोगों से पटा था. हर तरफ देवी मां के जयकारे भक्तों का उत्साह बढ़ा रहे थे. ढोल व धाप की आवाज माहौल को भक्तिमय बना रहा था. ऐसे भक्तिपूर्ण माहौल व प्रशासन द्वारा किये गये सुरक्षा के चाक-चौबंद दिखा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.