मुजफ्फरपुर- सजगता, सतर्कता एवं स्वच्छता से ही रोगों से बचाव संभव: डॉ सतीश।

-वेक्टर बोर्न रोग पर चलाया गया जागरूकता अभियान
-थियोसोफिकल ऑर्डर ऑफ सर्विस के तत्वावधान में हुआ आयोजन संपन्न।

मुजफ्फरपुर। थियोसोफिकल लॉज सभागार में मंगलवार को वेक्टर बॉर्न रोगों के कारण और बचाव पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला का आयोजन थियोसोफिकल ऑर्डर ऑफ सर्विस आस्था ग्रुप ने किया। इस मौके पर जिला भीबीडीसी पदाधिकारी डॉ सतीश ने कहा कि वेक्टर रोगों में डेंगू, कालाजार, फाइलेरिया और मलेरिया रोग हैं जो लोगों के बीच प्रायः देखने को मिलते हैं। इन रोगों का सीधा संबंध स्वच्छता से है, अगर हम सजगता, सतर्कता एवं स्वच्छता का ध्यान नियमित तौर पर रखें तो वेक्टर बॉर्न रोगों से बचा जा सकता है।

डेंगू और फाइलेरिया पर दी जानकारी:

डॉ सतीश ने कहा कि बरसात के खत्म होते ही डेंगू का प्रकोप बढ़ जाता है। इस रोग का सीधा संबंध स्वच्छता से है। हम अगर अपने आस पास पानी नहीं जमने दें तो इस बीमारी से बचा जा सकता है। फाइलेरिया पर बात करते हुए डॉ सतीश ने कहा कि आने वाले महीने में फाइलेरिया उन्मूलन के लिए आइडीए अभियान चलाया जाएगा। इसमें खिलाई जाने वाली दवा में ऊपरी उम्र की कोई सीमा नहीं है।

वरिष्ठ नागरिकों ने ली शपथ:

आस्था ग्रुप के अधिकतर लोग वरिष्ठ नागरिक हैं। कार्यशाला के दौरान संस्था को फाइलेरिया पर जानकारी के लिए कुछ पम्पलेट देने का भी वादा किया गया। संस्था के चितरंजन सिन्हा ने कहा कि संस्था पूरे सामर्थ्य के अनुसार फाइलेरिया पर लोगों के बीच जागरूकता फैलाएगी। कार्यशाला के दौरान चितरंजन सिन्हा, कनक प्रेम कुमार, रमेश प्रसाद श्रीवास्तव, बालेश्वर नारायण सिंह, रामचंद्र सिंह, अंजनी कुमार, उमाशंकर चौरसिया, शंभू शरण सिन्हा, ज्ञानेंद्र कुमार, रविंद्र कुमार, रवि राकेश चंद्र, सम्राट पंकज प्रकाश ने अपने-अपने  विचार व्यक्त किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.