मुजफ्फरपुर- सतत जीविकोपार्जन योजना गरीब महिलाओं के लिए साबित हो रही वरदान।

– जीविका दीदियों की मासिक आय हुई चार हजार से ज्यादा
– 102 जीविका दीदियों को मापदंड पूरा करने पर मिला प्रशस्ति पत्र
मुजफ्फरपुर, 27 अगस्त । जीविका परियोजना द्वारा संचालित सतत जीविकोपार्जन योजना गरीब महिलाओं के लिए वरदान साबित हो रही है। इनसे जुड़े हुए परिवारों को सर्वप्रथम प्रशिक्षण देकर ग्राम संगठन के माध्यम से अलग-अलग व्यवसाय से जोड़ा गया है। इस कार्यक्रम के माध्यम से सतत जीविकोपार्जन योजना से जुड़ी हुई दीदियों के रहन-सहन में बदलाव के साथ साथ मासिक आमदनी 4000 से ज्यादा हो चुकी है। प्रखंड परियोजना क्रियान्वयन इकाई मड़वन के द्वारा शनिवार को सतत जीविकोपार्जन योजना के अंतर्गत मिशन स्वावलंबन उत्सव दिवस मनाया गया। जिसके तहत क्रमिक वृद्धि कार्य नीति के मापदंड को पूरा करने वाले 102 दीदियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर जिला परियोजना प्रबंधक अनिशा ने बताया कि क्रमिक वृद्धि कार्यनीति के अनुसार ग्रेजुएट होने वाले दीदी जो अत्यंत गरीब थी। जिनके परिवार में बेहतर आय का साधन नहीं था। उनको सतत जीविकोपार्जन योजना के माध्यम से आज न्यूनतम 4000 मासिक आमदनी को सुनिश्चित किया जा रहा है तथा जुड़ी हुई क्रमिक वृद्धि के तहत दीदी ग्रेजुएट हो रही है। इस अवसर पर प्रखंड परियोजना प्रबन्धक आशुतोष ने बताया कि मड़वन में इस योजना से जुड़ी कुल 362 परिवारों में से क्रमिक वृद्धि कार्यनीति के तहत प्रथम चरण में 102 तथा सितंबर माह में 78 और दीदियों को ग्रेजुएट किया जाएगा। इस अवसर पर जिले से एसजेवाइ नोडल धीरज कुमार, वाइपी एसजेवाइ खुशबू, प्रशिक्षण अधिकारी प्रवीण पाठक, जीविका मड़वन के सभी कर्मी एवं इस योजना से जुड़ी सभी दीदियों ने भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.