मोतिहारी- अंतराष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र में जल्द शुरू होगा पोलियो टीकाकरण अभियान।

– अपर कार्यपालक निदेशक ने सिविल सर्जन को लिखा पत्र
– बच्चों को पोलियो से बचाव को चलेगा पल्स पोलियो अभियान : डीआईओ

मोतिहारी, 02 सितम्बर। जिले के अंतराष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र में पल्स पोलियो अभियान चलेगा। इस सम्बन्ध में अपर कार्यपालक निदेशक केशवेन्द्र कुमार ने पूर्वी चम्पारण के सिविल सर्जन डॉ अंजनी कुमार को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने कहा है कि राज्य के चिन्हित अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र में पल्स पोलियो का टीकाकरण आरंभ किया जाए।  वर्तमान में विश्व के कुछ देशों तथा हमारे पड़ोसी देश में अभी भी पोलियो का संक्रमण जारी है। उन देशों में अभी भी पोलियो के मामले परिलक्षित हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि विश्व में कहीं भी पोलियो का संक्रमण पाए जाने पर अन्य स्थानों पर भी इसके पहुँचने का खतरा बना रहता है। इससे बचाव हेतु नियमित रूप से उच्च गुणवत्ता का पल्स पोलियो अभियान चलाया जाना जरूरी  है। इसलिए राज्य के चिन्हित अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्रों में नियमित खासकर नेपाल से आने वाले बच्चों के लिए पल्स पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सिविल सर्जन अपने जिला अंतर्गत चिन्हित अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र में पल्स पोलियो का टीकाकरण पूर्व की भांति नियमित रूप से कराना सुनिश्चित करें।

सिविल सर्जन डॉ अंजनी कुमार ने बताया कि जिले के रक्सौल अंतराष्ट्रीय बॉर्डर सीमा पर नेपाल से आए नागरिकों के बच्चों के लिए पूर्व की भांति पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी।

बॉर्डर इलाके में जल्द शुरू होगा पल्स पोलियो अभियान : डीआईओ

डीआईओ डॉ शरत चन्द्र शर्मा ने बताया कि रक्सौल, अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र जहाँ नेपाल से आने वाले लोगों के बच्चों के लिए सघन पल्स पोलियो अभियान चलाया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग बच्चों को रोगों से बचाने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने बताया कि मिशन इंद्रधनुष या पोलियो टीकाकरण अभियान का उद्देश्य हमारे बच्चों को घातक रोगों से बचाना है।

संस्थाओं से पोलियो टीकाकरण अभियान में सहयोग की अपील-

डीआईओ डॉ शर्मा ने स्वास्थ्यकर्मियों, डब्ल्यूएचओ, यूनिसेफ, रोटरी क्लब जैसे संस्थाओं से इस कार्य में सहयोग करने की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.