मोतिहारी- अभियान के तहत परिवार नियोजन संसाधन अपनाने के लिए लोगों को किया जागरूक।

-मिशन परिवार विकास अभियान के अंतर्गत विशेष ग्राम सभा का हुआ आयोजन
-सेन्टर फॉर कैटालिजिंग चेंज के सहयोग से कार्यक्रम का हुआ आयोजन

मोतिहारी। मिशन परिवार विकास अभियान का आयोजन जिले के छौड़ादानो प्रखंड में मुखिया गोपाल राय की अध्यक्षता में हुई। जिसमें सेन्टर फॉर कैटालिजिंग चेंज का सहयोग रहा। कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधियों का कहना है कि मिशन परिवार विकास अभियान को सार्थक और धरातल पर उतारने के लिए एक सराहनीय प्रयास किया जा रहा है। जिसमें मुखिया के द्वारा पंचायत के दो में कुल 50 नव दंपतियों के बीच परिवार नियोजन साधन से भरा किट का वितरण किया गया। वहीं स्वास्थ्य विभाग की शीलू वर्मा के द्वारा पंचायत के उपस्थित सैकड़ों ग्रामीणों को परिवार नियोजन पर विशेष जानकारी दी गई साथ ही परिवार नियोजन के अस्थाई और स्थाई साधन के बारे में चर्चा की गई।

सुविधानुसार इच्छित विकल्प का उठा सकते हैं लाभ-

शीलू वर्मा ने बताया कि महिलाएं तथा पुरूष अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में परिवार नियोजन के विभिन्न साधनों की जानकारी लेने के साथ ही सुविधानुसार इच्छित विकल्प का लाभ उठा सकते हैं। बच्चों के बीच समयांतराल रखने और छोटा परिवार के होने से लोग वर्तमान समय में बढ़ रही महंगाई से छूटकारा मिलने के साथ ही जनसंख्या स्थिरीकरण में भी सरकार और देश के सहायक बन सकते हैं। सरकार द्वारा चलाये जा रहे परिवार नियोजन कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य जनसंख्या स्थिरीकरण के साथ ही प्रजनन स्वास्थ्य को सुदृढ़ करते हुए स्वस्थ परिवार का निर्माण करना भी है। लोगों को परिवार नियोजन के विभिन्न साधनों का इस्तेमाल कर इस अभियान को सफल बनाना चाहिए।

उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य केंद्रों पर आशा व एएनएम आदि उपस्थित रहती हैं। जिनसे लोग परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थायी साधनों की जानकारी ले सकते हैं। महिला बंध्याकरण की तुलना में पुरुष नसबंदी ज्यादा आसान और सुलभ है। जिसका लोग आसानी से लाभ उठा सकते हैं। अस्थायी साधन के रूप में लोग अंतरा इंजेक्शन, कॉपर टी, छाया, माला एन व इजी पिल्स आदि का उपयोग कर सकते हैं।

अस्थायी साधन का उपयोग ज्यादा सुलभ-

सी थ्री के डीसी आदित्य राज ने कहा परिवार नियोजन के अस्थायी साधन का इस्तेमाल लोगों के लिए ज्यादा सुलभ साबित हुआ है। अस्थायी साधन लोगों को अनचाहे गर्भ से बचाने के साथ ही अपने शिशुओं के बीच अंतराल रखने में भी सहायक होते हैं। गर्भ निरोधक इंजेक्शन तीन महीने के लिए अनचाहे गर्भ से बचाने में सहायक है । महिलाए जब  चाहें उपयोग कर सकती हैं। कार्यक्रम में मुख्य भूमिका सी थ्री जिला समन्वयक आदित्य राज, आकाश सिंह, रंजीत राउत, सुबोध मिश्र, अरविंद कुमार मिश्र, अवध बिहारी, शंभू सिंह व अरुण कुमार उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.