मोतिहारी- परिवार नियोजन संसाधनों के उपयोग से जनसंख्या में आई कमी।

– आमजनों को परिवार नियोजन संसाधनों का उपयोग करने हेतु किया जा रहा जागरूक
– स्वास्थ्य केंद्रों पर कन्डोम बॉक्स एक अच्छी पहल

मोतिहारी, 30 सितम्बर:। पूर्वी चम्पारण के सिविल सर्जन डॉ अंजनी कुमार ने बताया कि परिवार नियोजन संसाधनों के उपयोग से जिले की बढ़ती जनसंख्या में कमी आई है। उन्होंने बताया कि आमजनों को परिवार नियोजन संसाधनों का उपयोग करने हेतु जागरूक किया जा रहा है। समय समय पर पोस्टर, बैनर, अखबारों के माध्यम से परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थायी साधनों के प्रयोग करने की जानकारी स्वास्थ्य विभाग  द्वारा दी जाती है। जिले की आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा स्वास्थ्य कर्मियों के सहयोग से भी गर्भवती, धात्री महिलाओं के बीच जाकर परिवार नियोजन के महत्व को समझाया जाता है। ताकि जनसंख्या में अप्रत्याशित वृद्धि को रोका जा सके।

परिवार नियोजन साधनों के इस्तेमाल में हुई  है वृद्धि-

सीएस डॉ अंजनी कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-5 के अनुसार, राज्य में परिवार नियोजन साधनों के इस्तेमाल में वृद्धि हुई है। महिलाओं द्वारा परिवार नियोजन के किसी भी साधन के इस्तेमाल में 31.7 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। वहीं, परिवार नियोजन के आधुनिक साधन के इस्तेमाल में 21.1 फीसदी की वृद्धि हुई है। जबकि महिला बंध्याकरण में 14.1 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। इसी के अनुरूप जिले में भी परिवार नियोजन के स्थायी अ अस्थायी संसाधनों के उपयोग में वृद्धि आई है।

स्वास्थ्य केंद्रों में कंडोम बॉक्स एक अच्छी पहल-

डीसीएम नन्दन झा ने बताया सभी स्वास्थ्य केंद्रों में कन्डोम बॉक्स लगाकर महिलाओं व पुरुषों को बेझिझक गर्भ निरोधक साधनों का उपयोग कर जनसंख्या स्थिरीकरण का संदेश दिया जा रहा है। कंडोम बॉक्स लगाए जाने से स्वास्थ्य केंद्र पर लोगों के बीच जागरूकता देखी जा रही है। इससे परिवार नियोजन के स्थायी साधनों के उपयोग को  बढ़ावा मिल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.