मोतिहारी- 26 प्रखंडों में छिड़काव दलों का हो रहा है प्रशिक्षण।

– मोतिहारी, चकिया, केसरिया समेत 26 प्रखंडों में चल रहा है प्रशिक्षण

– कालाजार से बचाव को जिले में चलेगा सघन छिड़काव अभियान
– द्वितीय चक्र में जिले के 26 प्रखंडों के 2 लाख 24 हजार घरों में 5 सितम्बर से चलेगा सघन छिड़काव अभियान

मोतिहारी, 03 सितम्बर। कालाजार उन्मूलन कार्यक्रम को लेकर राज्य सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह प्रतिबद्ध है। जिले में द्वितीय चरण (अगस्त-अक्तूबर) के तहत जिले के 26 प्रखंडों के 2 लाख 24 हजार 678 घरों, 149 पंचायतों में सघन छिड़काव अभियान चलेगा। इसके तहत जिले के मोतिहारी, चकिया, केसरिया समेत 26 प्रखंडों में 2 और  3 सितम्बर को छिड़काव दल का प्रशिक्षण हुआ।

5 सितम्बर से छिड़काव किया जाएगा-

आगामी 5 सितम्बर से छिड़काव दल घर-घर जाकर एसपी पाउडर का छिड़काव करेगी। इस सम्बन्ध में निदेशक प्रमुख (रोग नियंत्रण) स्वास्थ्य सेवाएँ, पटना डॉ. राकेश चंद्र सहाय वर्मा ने पत्र जारी कर सभी जिलाधिकारी को आवश्यक निर्देश दिया है। इसमें हर हाल में निर्धारित समयावधि के अंदर छिड़काव  कार्य पूरा कराने को लेकर जिला स्तर पर माइक्रोप्लान और एक्शन प्लान तैयार कर जरूरी पहल करने को कहा है। जिला वेक्टर पदाधिकारी डॉ शरद चन्द्र शर्मा के निर्देशानुसार कालाजार टेक्निकल सेल के प्रभारी वेक्टर रोग नियंत्रण पदाधिकारी धर्मेंद्र कुमार को सतत पर्यवेक्षण एवं कार्य की निगरानी करने का निर्देश दिया गया है। ताकि हर हाल में निर्धारित समय पर अभियान का शुभारंभ और सफलतापूर्वक समापन सुनिश्चित हो सके।

छिड़काव के दौरान कालाजार से बचाव की भी दी जाएगी जानकारी-

जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ शर्मा ने बताया कि  छिड़काव के दौरान एक भी घर छूटे नहीं, इस बात का विशेष ख्याल रखा जाएगा। इसको लेकर छिड़काव टीम को भी आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। छिड़काव अभियान के दौरान सामुदायिक स्तर पर लोगों को कालाजार से बचाव के लिए आवश्यक जानकारी भी दी जाएगी। इस दौरान कालाजार के कारण, लक्षण, बचाव एवं इसके उपचार की विस्तृत जानकारी दी जाएगी। छिड़काव के दौरान किन-किन बातों का ख्याल रखना चाहिए, ये भी बताया जाएगा।

सदर अस्पताल, चकिया, मधुबन, कल्याणपुर में नि:शुल्क इलाज की सुविधा है उपलब्ध-

वेक्टर रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ शरत चन्द्र शर्मा ने बताया कि कालाजार मरीजों की जाँच की सुविधा जिले के सभी पीएचसी में नि:शुल्क उपलब्ध है। वही इलाज की सुविधा सदर अस्पताल, चकिया, मधुबन, कल्याणपुर में भी नि:शुल्क उपलब्ध है।

छिड़काव के दौरान इन बातों का रखें ख्याल-

– छिड़काव के पूर्व घर की अन्दरूनी दीवार की छेद/दरार बंद कर दें।
– घर के सभी कमरों, रसोई घर, पूजा घर, एवं गोहाल के अन्दरूनी दीवारों पर छः फीट तक छिड़काव अवश्य कराएं। छिड़काव के दो घंटे बाद घर में प्रवेश करें।
– छिड़काव के पूर्व भोजन सामग्री, बर्तन, कपड़े आदि को घर से बाहर रख दें।
– ढाई से तीन माह तक दीवारों पर लिपाई-पोताई ना करें, जिससे कीटनाशक (एस पी) का असर बना रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.