मोतिहारी- 8 व 11 नवम्बर को मनाया जाएगा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस।

– 19 साल तक के बच्चों को खिलायी जाएगी एल्बेंडाजोल की दवा
– बीमार, इलाजरत बच्चों व गर्भवती महिलाओं को न खिलाएँ दवा
– पेट दर्द, उल्टी, मिचली से नहीं घबराएँ 

मोतिहारी, 09 सितम्बर। जिला में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान चलाए जाने को लेकर सीएस डॉ अंजनी कुमार की अध्यक्षता में बैठक हुई। सीएस ने बताया कि जिले में अब 8 एवं 11 नवम्बर को “राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस” मनाया जायेगा। इस अभियान के तहत जिले में 1 से 19 वर्ष तक के सभी बच्चे एवं किशोर-किशोरियों को कृमि नाशक अल्बेंडाजोल की गोली खिलायी जायेगी। यदि कोई बच्चा किन्हीं कारणों से छूट जाता है तो 11 नवम्बर को मॉप अप राउंड में भी गोली खिलाई जाएगी। इसके साथ ही अभिभावकों को स्वच्छता के प्रति जागरुक किया जाएगा।

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. शरत चन्द्र शर्मा ने बताया कि विद्यालयों में बच्चे शिक्षक की उपस्थिति में गोली खाएंगे। आंगनबाड़ी केंद्रों पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की उपस्थिति में एक से पांच वर्ष के सभी बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोली खिलाई जाएगी।

प्रचार प्रसार के साथ बच्चों को खिलाई जाएगी दवा-

एसीएमओ डॉ रंजीत राय, डीईओ संजय कुमार एवं डीआइओ डॉ. शर्मा ने बताया कि “राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस” पर बच्चों को उम्र के अनुसार खुराक दी जाएगी। इसे लेकर व्यापक तैयारी की जा रही है। डीआईओ ने कहा कि इस संबंध में सभी सरकारी विद्यालयों एवं ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में पोस्टर, बैनर, पंपलेट और माइकिंग आदि के माध्यम से प्रचार प्रसार कराया जाएगा। जिससे कोई भी बच्चा यह दवाई खाने से छूट ना पाए।

बीमार, इलाजरत बच्चों व गर्भवती  महिलाओं को न खिलाएँ दवा-

डॉ शरत चन्द्र शर्मा ने बताया कि इलाजरत व बीमार साथ ही गर्भवती महिला को दवा नहीं खिलानी है।

पेट में कीड़े होने से बच्चों को होती है परेशानियां-

बच्चों में कृमि संक्रमण की वजह से खून की कमी देखी जाती है। इसके कारण कुपोषण, भूख न लगना, कमजोरी, बेचैनी, पेट दर्द, उल्टी, दस्त एवं वजन कम होने लगती है। ऐसे में ऐल्बेंडाजोल (400 ग्राम) की गोली दिया जाना आवश्यक है। एल्बेंडाजोल की खुराक खिलाने के बाद तीव्र संक्रमण वाले मरीजों के पेट में दर्द अथवा उल्टी की शिकायत हो सकती है। इससे घबराने की जरूरत नहीं है। कुछ देर में पेट दर्द व उल्टी की शिकायत बंद हो जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.