विश्व ओजोन दिवस पर धरती संरक्षण के लिए बच्चों ने निकाली जागरूकता रैली।

•सहयोगी संस्था के सहयोग से निकाली रैली
•‘पृथ्वी पर जीवन की रक्षा करने वाला वैश्विक सहयोग’ है इस वर्ष की थीम
•‘जहाँ हरियाली, वहाँ खुशहाली’ जैसे लगे कई नारे
•स्कूली शिक्षकों ने भी किया प्रतिभाग 

मोतिहारी/पटना: विश्व ओजोन दिवस के मौके पर सहयोगी संस्था के सहयोग से लगभग 120 स्कूली छात्रों ने धरती को सुरक्षित करने के लिए जागरूकता रैली निकाली. यह रैली दानापुर स्थित ब्रिज नारायणपुर स्कूल से जमसोत देवी मंदिर तक निकाली गयी. रैली में बढ़ी संख्या में स्कूली छात्रों के साथ शिक्षक भी शामिल हुए. ओजोन परत की सुरक्षा धरती को संरक्षित करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है. इसे ध्यान में रखते हुए स्कूली बच्चों ने कई नारे भी लगाए. ‘जहाँ हरियाली, वहां  खुशहाली’, पेड़ पौधे लगायेंगे, ‘पर्यावरण को बचायेंगे’, जो पेड़ों में डाले पानी  वही है सच्चा ज्ञानी एवं पर्यावरण का रखें ध्यान तभी बनेगा देश महान जैसे नारों की सहायता से बच्चों ने पर्यावरण संरक्षण पर अलख जगाई.

धरती को सुरक्षित रखना सभी की हो नैतिक जिम्मेदारी:

सहयोगी संस्था की निदेशिका रजनी ने बताया कि 16 सितंबर 1995 से विश्व भर में ओजोन दिवस मनाया जा रहा है. इस वर्ष के विश्व ओजोन दिवस की थीम ‘पृथ्वी पर जीवन की रक्षा करने वाला वैश्विक सहयोग’ रखा गया है. विश्व ओजोन दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को ओजोन परत एवं इसकी उपयोगिता के विषय में जागरूक करना है. ओजोन परत धरती को सूर्य की हानिकारक किरणों से सुरक्षा प्रदान करता है. ओजोन परत का क्लोरोफ्लोरोकार्बन से नुकसान होता है. क्लोरोफ्लोरोकार्बन के अत्यधिक उत्सर्जन वायु प्रदूषण, प्लासिक पदार्थों का सीमित उपयोग, रबर एवं टायर को जलाने से परहेज  कर किया जा सकता है. धरती को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी किसी एक व्यक्ति की नहीं बल्कि पूरे समाज की नैतिक जिम्मेदारी है.

एक संकल्प ओजोन को कर सकता है सुरक्षित:
रजनी ने बताया कि ओजोन परत के नुकसान के कारण स्किन कैंसर सहित कई अन्य घातक बीमारी का खतरा बढ़ सकता है. इसके लिए सबसे जरुरी है कि आधुनिक उपकरण जिससे क्लोरोफ्लोरोकार्बन का उत्सर्जन होता है उसके उपयोग को भी सीमित करना चाहिए. आज के दौर में सभी के घरों में फ्रिज एवं एयर कंडीशनर उपलब्ध है. इन दोनों से क्लोरोफ्लोरोकार्बन गैस निकलती है एवं ओजोन परत को नुकसान पहुंचाता है. ऐसी स्थिति में यह जरुरी है कि फ्रिज एवं एसी का उपयोग समझदारी से किया जाए. सभी व्यक्ति को संकल्प लेने की जरूत है कि जब जरुरी न हो तो ऐसे उकरणों का इस्तेमाल न किया जाए. पर्यावरण की सुरक्षा मानव के अस्तित्व को बनाए रखने के लिए जरुरी है. इसलिए इस दिशा में सभी को प्रयास करते हुए घर के आस-पास हरियाली बनाये रखने की भी जिम्मेदारी है. प्रत्येक व्यक्ति को कुछ पेड़ जरुर लगाने चाहिए ताकि वायुमंडल में ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाया जा सके. ऑक्सीजन ही जीवन है एवं यही मानव अस्तित्व को जीवित रखने का आखिरी विकल्प भी है.
रैली में विद्यालय के शिक्षक नीरज कुमार के साथ सहयोगी से उन्नति रानी, उषा श्रीवास्तव, लाजवंती, प्रियंका, सपना, रौनक, रिंकी, रूबी धर्मेन्द्र, एवं नीतीश शामिल हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.