वैशाली- आशा कार्यकर्ता के पदों की भर्ती जल्द पूरा करें : डीडीसी।

– जिला स्वास्थ्य समिति की मासिक समीक्षा में डीडीसी ने दिया निर्देश
– चिकित्सक अपना अधिक से अधिक समय टेलिमेडिसीन को दें

वैशाली। 27 अगस्त । जिला समाहरणालय के सभागार में शनिवार को डीडीसी चित्रगुप्त कुमार की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की मासिक समीक्षात्मक बैठक आयोजित की गयी। बैठक में स्वास्थ्य विभाग के सभी पदाधिकारियों ने भाग लिया। समीक्षा के दौरान डीडीसी ने कोविड टीकाकरण, परिवार नियोजन, रिप्रोडक्टिव एंड चाइल्ड हेल्थ, प्रसव पूर्व जांच, गैर संचारी रोग स्क्रीनिंग और टेलीमेडिसिन सहित स्वास्थ्य कार्यक्रम पर चर्चा की। चर्चा के दौरान  डीडीसी चित्रगुप्त कुमार ने सिविल सर्जन को जिले में रिक्त आशा और आशा फैसिलिटेटर के पदों को जल्द से जल्द पूरा करने का आदेश देते हुए कहा कि अगर प्रखंड स्तर या मुखिया संबंधी कोई दिक्कत हो रही है तो जल्द से जल्द जिलाधिकारी को वह सूचित करें। मालूम हो कि जिले में 122 आशा और 13 आशा फैसिलिटेटर के पदों को भरा जाना है। इसके अलावे डीडीसी ने आयुष्मान भारत के लाभुकों तथा आयुष्मान भारत के तहत लग रहे कैंप के बारे में भी विस्तार से संबंधित अधिकारी से जाना। जिला स्वास्थ्य समिति की तरफ से पीपीटी का प्रजेंटेशन केयर इंडिया के सुमित कुमार ने किया।

एमओआईसी को टेलिमेडिसीन पर निर्देश-

समीक्षा के दौरान डीडीसी ने ई संजीवनी टेलिमेडिसीन में देसरी और सहदेई बुजुर्ग में बेहतर कर रहे चिकित्सकों का हवाला देते हुए सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि वे अपने चिकित्सकों को ई संजीवनी टेलिमेडिसीन के लिए भी उपयुक्त समय देने को कहें।

कोविड टीकाकरण के प्रीकॉशन डोज के लक्ष्यों में लाएं तेजी-

समीक्षा के दौरान डीडीसी ने कोविड टीकाकरण में तीसरे यानी प्रीकॉशन डोज में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी को तेजी लाने को कहा। उन्होंने कहा कि इस संबंध में  वांछित प्रचार प्रसार करें , ताकि लोगों में जागरुकता आए। मालूम हो कि जिले में 60 प्लस के प्रीकॉशन डोज लेने वालों का प्रतिशत 28.62 तथा 18 से 59 उम्र वर्ग के लोगों का प्रतिशत 19.09 प्रतिशत है। मौके पर डीडीसी चंद्रगुप्त कुमार, सिविल सर्जन अमरेंद्र नारायण शाही, डीएमओ, डीआईओ, एनसीडी, डीसीएम, डीपीएम सहित सभी प्रखंडों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी और प्रखंड हेल्थ मैनेजर मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.