वैशाली- शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मीनापुर से पोलियो ड्रॉप पिलाकर अभियान की हुई शुरुआत।

– पांच दिन तक चलेगा पल्स पोलियो अभियान
– सार्वजनिक स्थलों पर काम करेगी 197 ट्रांजिट टीम

वैशाली। 19 सितंबर। जिलाधिकारी यशपाल मीणा ने सोमवार को शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, मीनापुर से पांच दिवसीय पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत की। यहां जिलाधिकारी ने जीरो से पांच साल तक के बच्चों को पोलियो की दो बूंद पिलायी। इस मौके पर जिलाधिकारी ने लोगों से अपील की है कि वे अपने घर के जीरो से पांच साल तक के बच्चों को पोलियो की खुराक अवश्य दें। इस वैक्सीन से बच्चे को किसी तरह की कोई हानि नहीं होती है।

197 ट्रांजिट टीम रहेंगी तैनात-

डब्ल्यूएचओ की एसएमओ डॉ श्वेता राय ने कहा कि जिले में पल्स पोलियो के लिए कुल पांच लाख 70 हजार बच्चों को लक्षित किया गया है। वहीं हाउस टू हाउस एक्टिविटी के लिए कुल 1293 टीम काम करेगी। इसके बावजूद घर में गैर मौजूद बच्चे या पोलियो की खुराक से छूटे हुए बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाने के लिए जिले में सार्वजनिक जगहों पर 197 ट्रांजिट टीम काम करेगी।

बिहार अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटा, इसलिए सेंसेटिव-

डॉ श्वेता राय ने कहा कि बिहार के कुछ जिले नेपाल से सटे हैं, ऐसे में यह जिला भौगोलिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि इससे होकर ही उत्तर बिहार के प्रमुख जिलों में जाया जाता है।

जीरो से पांच साल तक के बच्चों को जरूर पिलाएं पोलियो की खुराक-

डब्ल्यूएचओ की डॉ श्वेता राय ने कहा कि जीरो से पांच साल तक के बच्चों को जितनी बार अभियान चले, उतनी बार पोलियो की खुराक पिलाना चाहिए। इससे किसी प्रकार की हानि नहीं है। कमजोर ब्लॉक के एमओआईसी भी इस बार अपना पूरा जोर इस कार्यक्रम के लिए लगा रहे हैं। वैक्सीन को पहुंचाने के लिए शीत श्रृंखला भी पूरी तरह तैयार है। इस मौके पर डीएस डॉ एसके वर्मा, मीनापुर शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के एमओआईसी डॉ संजय दास, डॉ संजय कुमार, मधुमिता कुमारी और जकी अहमद सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.