समस्तीपुर- बहनें सबसे प्यारा और निःस्वार्थ रिश्ता होती है; नेहा सिंह।

“लड़ना-झगड़ना,मना लेना यही है भाई-बहन का प्यार,
इस रिश्ते की गांठ का है ये पावन त्योहार”;नेहा सिंह
समस्तीपुर/दलसिंहसराय, (राज कुमार सिंह)। भाई-बहन के प्यार का प्रतीक रक्षाबंधन का पर्व पूरे अनुमंडल मुख्यालय के शहर से लेकर गांव तक हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर बहनों ने भाई की कलाई पर राखी बांधी। साथ ही सुख समृद्धि तथा दीर्घायु होने की कामना की।वहीं सजी हुई थाल में आरती भी उतारी।साथ ही मुँह मीठा कराया। इस अवसर पर भाई ने भी अपनी बहनों के रक्षा का वचन देते हुए उपहार दिया।वंही त्योहार को लेकर सुबह से ही सड़कों पर काफी भीड़ भाड़ देखे गए।साथ ही लोगों के घरों में मेहमानों का आना जाना लगा रहा।सबों के चेहरे में खुशी का माहौल देखा गया।इसी क्रम में एक शिक्षिका नेहा सिंह ने बताया कि रक्षाबंधन का पर्व बेहद पवित्र पर्व है।प्रत्येक वर्ष सावन मास के पूर्णिमा को रक्षाबंधन का पर्व भाई-बहन का पर्व के रूप में मनाया जाता है। इस दिन बहनें भाई की कलाई पर राखी बांधती हैं और लंबी आयु की कामना करती हैं। वहीं भाई अपनी बहनों को रक्षा का वचन देते हैं। इसके साथ ही बहनों को उपहार भी दिए जाते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि बहनें सबसे प्यारा और निःस्वार्थ रिश्ता होती है। “लड़ना- झगड़ना,मना लेना यही है भाई-बहन का प्यार, इस रिश्ते की गाँठ का है, ये पावन त्योहार।
रक्षाबंधन के दिन शुभ मुहूर्त में ही राखी बांधी जानी चाहिए। मान्यता है कि शुभ मुहूर्त में राखी बांधने से पुण्य प्राप्त होता है और शुभ फलदायी होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.