समस्तीपुर- लोक अदालत में छोटे छोटे समनीय वादों  को आपसी समझौता कर  वादों को निष्पादन करें :एडीजे।

  • लोक अदालत में वादों को निबटारा करने से समय व पैसे की वचत होती है : एसडीजेएम अभिषेक कुमार।
  • राष्ट्रीय लोक अदालत में 201  वादों का किया गया निबटारा  6296136     रुपये की हुई वसूली

समस्तीपुर/दलसिंहसराय, (राज कुमार सिंह)। राष्ट्रीय लोक अदालत में छोटे छोटे समनीय वादों का निबटारा करने से समय व पैसे की वचत होती है तथा दोनों पक्षों  के समझौता के आधार पर ऑन द  स्पॉट मामले का निष्पादन होता है । उक्त बातें राष्ट्रीय  एंव राज्य विधिक सेवा समिति पटना  एंव  जिला एंव सत्र न्यायाधीश सह जिला विधिक सेवा प्राधिकार समस्तीपुर के अध्यक्ष बटेश्वर नाथ पांडेय के निर्देशन में सिविल कोर्ट परिसर दलसिंहसराय में शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत का उद्घाटन करते हुए अपर जिला एंव सत्र न्यायाधीश सह समिति के  अध्यक्ष शैलेन्द्र कुमार  ने कही । वहीं सामिति के सचिव सह एसडीजेएम अभिषेक कुमार ने कहा कि लोक अदालत में वादों का निबटारा करने से समय व पैसे की वचत होती है। यहाँ किसी भी प्रकार का फीस नही  लगता है।समनीय वादों का निबटारा आपसी समझौता के आधार पर करते हुए अपने घर , परिवार , भाई , पड़ोसियों के साथ सौहार्दपूर्ण वातावरण कायम कर तनावमुक्त रहें और अपने अपने परिवार , पड़ोसी एंव बच्चे के साथ  शांतिपूर्ण वातावरण स्थापित करें। इससे पूर्व एडीजे शैलेन्द्र कुमार , एसीजेएम प्रथम सह सब जज प्रथम रवि पांडेय ,  एसडीजेएम सह सामिति के सचिव अभिषेक कुमार , न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी ओम प्रकाश नारायण सिंह , स्कंद राज , एसडीओ प्रियंका कुमारी डीएसपी दिनेश कुमार पांडेय , अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष विनोद कुमार पोद्दार समीर , महासचिव प्रभात कुमार चौधरी एंव एक बृद्ध न्यायार्थी ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का उद्घाटन किया। वहीं विभिन्न बैंक के शाखाओं , बिजली , माप तौल , ग्राम कचहरी , बीएसएनएल समेत कोर्ट में लंबित समनीय आदि वादों का निबटारा करने के लिए चार  बेंचों का गठन किया गया। जिसमें फौजदारी के  समनीय 50 वादों में 1700 सौ रुपये , एन आई एक्ट के 1 , लेबर एक्ट के 1 वाद में 10 हजार , बिजली के 9 वाद , विभिन्न बैंकों के शाखा का 133 वाद में 6278483 रुपये तथा बीएसएनएल के 7 वादों में 5953 रुपये कुल  201 वादों में कुल  6296136  रुपये की वसूली की गई ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.