समस्तीपुर- हरितालिका तीज के साथ आज ही चौठचंद्र व्रत हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया।

समस्तीपुर/दलसिंहसराय, (राज कुमार सिंह)। अनुमंडल मुख्यालय सहित सभी गांवों के प्रायः सभी घरों में मंगलवार को हरितालिका तीज के साथ-साथ चौठचन्द व्रत हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया।
बताया जाता है कि भादो माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को चौठचन्द मनाया जाता है।इसे ग्रामीण इलाकों में चाैरचन के नाम से भी जाना जाता है।
वहीं हरितालिका तीज को लेकर मंगलवार को सुहागिन महिलाएं अखंड सुहाग के लिए निर्जला व्रत रखी।साथ ही भगवान शिव व माता पार्वती की पूजा-अर्चना की। वहीं मंदिरों व घरों में भगवान की कथा सुनी। वहीं रातभर जागकर भगवान का ध्यान कर अगले दिन बुधवार की सुबह स्नान-ध्यान व पूजा कर व्रत संपन्न करेंगी।
बताया गया कि तीज के दिन व्रतियां पार्वती माता को भगवान शंकर के मिलने की कथा सुनेंगी। इस कथा में माता पार्वती के मन में भगवान शंकर से ब्याह करने की इच्छा व सखियों के माध्यम से इनको पाने तक पूरी कथा सुनाई जाती है।साथ ही मान्यता है कि जो व्रति रात को नहीं जाग पाती वे अपनी साड़ी में बेलपत्र बांधकर सो जाती हैं। जिससे महादेव उनके व्रत की रक्षा करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.