सीतामढ़ी- पीड़ित मानवता की सेवा सबसे बड़ा देशप्रेम।

-जिला भीबीडी नियंत्रण कार्यालय में मनाया गया आजादी का अमृत महोत्सव
-फाइलेरिया रोगियों के बीच एमएमडीपी किट वितरित

सीतामढ़ी। 16 अगस्त। आजादी का अमृत महोत्सव जिला भीबीडी नियंत्रण कार्यालय में भी पूरे जोश के साथ मनाया गया। इस अवसर पर फाइलेरिया मुक्त सीतामढ़ी के संकल्प के साथ फाइलेरिया से प्रभावित रोगियों को इसकी गंभीरता के बारे में बताया गया। पैर की नियमित देखभाल और व्यायाम के बारे में भी बताया गया। इस अवसर पर अति प्रभावित रोगियों के बीच उप विकास आयुक्त विनय कुमार एवं  सिविल सर्जन डॉ. सुरेश चन्द्र लाल द्वारा स्वउपचार किट (एमएमडीपी किट) वितरित किया गया।
उपविकास आयुक्त ने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव देशप्रेम और भाईचारा के संदेश को बढ़ाने के उद्देश्य से मनाया जा रहा है और पीड़ित मानवता की सेवा से बड़ा देशप्रेम और क्या होगा? भीबीडी नियंत्रण कार्यालय द्वारा फाइलेरिया से ग्रसित लोगों के जीवन को सरल बनाने और जटिलताओं को रोकने हेतु यह प्रयास सराहनीय एवं अनुकरणीय है। उन्होंने सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर पर एमएमडीपी क्लिनिक खोलने के डॉ. रवीन्द्र कुमार यादव के प्रयास की सराहना करते हए सिविल सर्जन से सहयोग करने को कहा। साथ ही इसके लिए व्यापक जागरूकता अभियान भी चलाने को कहा।

नियमित देखभाल से फाइलेरिया की जटिलताओं से बचा जा सकता-

सिविल सर्जन डॉ. सुरेश चन्द्र लाल ने कहा कि फाइलेरिया हो जाने के बाद धीरे धीरे यह गंभीर रूप लेने लगता है। इसकी नियमित और उचित देखभाल कर जटिलताओं से बचा जा सकता है और दैनिक कार्य किये जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि फाइलेरिया से बचाव बहुत ही आसान है। साल में एक बार सरकार द्वारा सर्व जन दवा सेवन कार्यक्रम चलाया जाता है, जिसमें आशा कार्यकर्ता घर घर जाकर फाइलेरिया से बचाव की दवा खिलाते हैं। जो दवा नहीं खाते हैं वे बीमारी की चपेट में आ सकते  हैं। अतः बचाव की दवा जरूर खानी चाहिए।

स्वास्थ्य केंद्रों में खोला जाएगा एमएमडीपी क्लिनिक-

जिला भीबीडी नियंत्रण पदाधिकारी डॉ. रवीन्द्र कुमार यादव ने कहा कि जो हाथी पाँव के शिकार हो जाते हैं, वे भी एमएमडीपी क्लिनिक में जाकर इसकी देखभाल और उपचार की जानकारी लेकर इसे आगे बढ़ने से रोक सकते हैं। इसके लिए शीघ्र ही सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों व हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर पर एमएमडीपी क्लिनिक खोला जायेगा, ताकि लोगों को परामर्श हेतु बहुत दूर नहीं जाना पड़े। उन्होंने बताया कि समेकित सहभागिता से वे कालाजार की तरह फाइलेरिया से भी सीतामढ़ी को मुक्त करेंगे।
धन्यवाद ज्ञापन डीपीएम असीत रंजन ने किया। इस अवसर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र डुमरा के चिकित्सा पदाधिकारी, स्वा. प्रबंधक, भीडीसीओ, प्रिंस कुमार, भीबीडीएस राकेश कुमार, शिव शंकर प्रसाद, नवीन कुमार, राजू रमन, राजू रंजन, एफएलए रजनीश कुमार, कमलेश कुमार, उपेन्द्र राय आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.