Viral audio: आपदा मंत्री शाहनवाज आलम के पीए एवं अररिया के पूर्व सांसद सरफराज आलम की फिसली जुबान,एमओ को जमकर सुनाया..

पटना. लाभुकों का अनाज के घोटालेबाजी में संलिप्त जन वितरण प्रणाली के विक्रेता सलेहा खातून के मामले में पूरे बिहार का महौल गर्म है. प्रदेश भर में इस डीलर का विरोध किया जा रहा है. दिल्ली तक इस घोटालेबाज डीलर का शोर है. हालांकि इस बीच बिहार सरकार के वर्तमान आपदा प्रबंधन मंत्री व अररिया जिला के जोकीहाट से विधायक के पिए एवं अररिया के पूर्व सांसद सरफराज आलम को लेकर खबर आ रही है. डीलर सलेहा खातून के गोदाम को सील का मामले को लेकर मंत्री के पीए एवं पूर्व सांसद और भरगामा एमओ कल्याण कुमार मंडल के बीच बात-चीत का ऑडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. आपको बता दें कि अररिया जिला के भरगामा प्रखंड के सिरसिया कला पंचायत निवासी घोटालेबाज जन वितरण प्रणाली के डीलर सलेहा खातून का मामला अब अधिक तूल पकड़ने लगा है. ज्ञात हो कि भरगामा एमओ रामकल्याण द्वारा 01 सितंबर को जांच के क्रम में अनाज की कमी पाए जाने पर गोदाम को सील कर दिया गया था. गोदाम सील करने के बाद भरगामा एमओ को बिहार सरकार के आपदा प्रबंधन मंत्री शाहनवाज आलम के पीए एवं अररिया के पूर्व सांसद सरफराज आलम का धमकी भरा कॉल आने लगा है. जिस कॉल रिकॉर्डिंग में डीलर को मंत्री जी का रिश्तेदार बताया जा रहा है. और उस डीलर पर किसी तरह का कोई कार्रवाई नहीं करने की हिदायत दी जा रही है. और यह भी कहा जा रहा है कि आइंदा अगर परेशान किए तो ठीक बात नहीं होगा. वहीं एमओ के द्वारा जांच पड़ताल का प्रतिवेदन एसडीओ साहब को सौंप देने की बात कही जा रही है. फिर मंत्री जी के पीए बोलते हैं कि एसडीओ को बोले एसडीओ तो राशन दुकान का सील खुलवा दिया आप क्यों परेशान कर रहे हैं. एसडीओ साहब कोई कार्यवाही नहीं किए तो आप न्यूज़पेपर में क्यों छपवा दिये हैं. सुनिये एमओ साहब सब दूध का धुला हुआ नहीं है,सब सब-कुछ करता है हमलोग को सब पता है. फिर अररिया के पूर्व सांसद सरफराज आलम का कॉल एमओ साहब को आता है. उनके द्वारा भी एमओ साहब को जमकर खरी-खोटी सुनाई जाती है. और वायरल ऑडियो में सांसद साहब भी सलेहा खातून को अपना रिश्तेदार बताते हुए कार्रवाई नहीं करने की पैरवी करते हुए सुने जा रहे हैं. हालांकि हम इस वायरल कॉल रिकॉर्ड की पुष्टि नहीं करते हैं लेकिन कहीं ना कहीं यह एक गंभीर मामला है अररिया जिला प्रशासन को इस तरह के गंभीर मामलों का जल्द से जल्द जांच कर दोषी पर कठोर कार्यवाही करने की जरूरत है. इधर एमओ रामकल्याण कुमार ने कहा कि सरकारी कार्यों में व्यवधान उत्पन्न करने वाले भ्रष्टाचार डीलर को बचाने के नियत से पैरवी करने वाले पैरवीकर्ता के खिलाफ जल्द थाने में व वरीय पदाधिकारियों को आवेदन देकर सूचित की जायेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.